केपलर-90 #सौरमंडल के आठवें ग्रह केपलर 90i की खोज..!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केपलर-90 सौरमंडल के इस आठवें ग्रह को केपलर 90i नाम दिया गया है. यह सूर्य की तुलना में थोड़ा गर्म और बड़ा है. खगोलशास्त्री इसके चारों ओर मौजूद सात ग्रहों को पहले से ही खोज चुके थे.

8 ग्रहों वाले इस सौरमंडल में सभी ग्रह केपलर-90 सितारे की परिक्रमा कर रहे हैं.

इस खोज में योगदान देने वाले गूगल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्रिस्टोफर शैलू कहते हैं, ”हमारे सौरमंडल की तरह ही केपलर-90 ऐसा सितारा है जिसके चारों ओर ग्रह चक्कर काटते हैं.”

गूगल के इंजीनियरों की ओर से आर्टिफिशल इंटेलिजेंस मशीन की मदद ली गई है. यह उन ग्रहों को खोजने में मदद करती है जिन्हें पहले नहीं खोजा जा सका.

यह खोज नासा के केपलर स्पेस टेलिस्कोप के आंकलन पर आधारित है.

इस सौरमंडल का प्रमुख ग्रह 2,545 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है. लेकिन इसके ग्रह हमारे सौरमंडल की तरह के ही क्रम में हैं.

खोज में शामिल रहे ऑस्टिन के टेक्सस विश्वविद्यालय के एंड्रयू वेंडरबर्ग का कहना है, ”केपलर-90 के ग्रहों की प्रणाली हमारे सौरंमडल का एक छोटा रूप है. इसके भीतर छोटे और बाहर बड़े ग्रह हैं. लेकिन सभी ग्रह काफी क़रीब हैं.”

ग्रह कितने क़रीब हैं, इसका अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि इसकी कक्षा का अंतिम ग्रह इसके प्रमुख सितारे से लगभग उतनी ही दूरी पर है जितनी दूरी पर पृथ्वी से सूर्य है.

इस नई दुनिया को केपलर-90i का नाम दिया गया है. इसका ग्रह अपने सितारे का एक पूरा चक्कर 14.4 दिनों में पूरा करता है. नासा ने इस ग्रह के तापमान का आकलन किया है और यह करीब 425 डिग्री सेल्सियस है.

जिस मशीन तकनीक के ज़रिए यह सौरमंडल खोजा गया है. उसी के ज़रिए पृथ्वी के आकार के बराबर एक नए ग्रह को ढूंढने में भी किया गया है जिसका नाम केपलर 80 जी है. यह एक दूसरे सितारे की परिक्रमा करता है.

हाल के दशकों में सितारों के इर्द-गिर्द चक्कर काटने वाले तकरीबन 3500 ग्रहों को खोजा गया है.

साभार : बीबीसी

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.