जिन पत्रकारों ने आधार लीक मामले को उजागर किया है वे अवॉर्ड के हकदार हैं-एडवर्ड

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अमरीकी विसलब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन ने ‘आधार डेटा लीक होने की’ ख़बर करने वाली पत्रकार रचना खेरा का समर्थन किया है. स्नोडेन के मुताबिक़ रचना को इस ख़बर के लिए इनाम मिलना चाहिए.

एडवर्ड ने ट्वीट कर कहा, “जिन पत्रकारों ने आधार लीक मामले को उजागर किया है वे अवॉर्ड के हकदार हैं, ना कि किसी जांच के. अगर सरकार वाक़ई इंसाफ़ को लेकर चिंतित है तो उन्हें आधार से जुड़ी अपनी नीतियों में सुधार करना चाहिए, जिसने एक अरब भारतीयों की निजता को खतरे में डाल दिया. इसके लिए ज़िम्मेदार व्यक्ति को गिरफ़्तार करना चाहते हैं? उनका नाम @UIDAI है.’

ग़ौरतलब है कि रचना खेरा ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि उन्हें सिर्फ़ 500 रुपए देकर ‘आधार’ डेटाबेस की एक्सेस मिल गई थी.

रचना की इस ख़बर पर काफ़ी विवाद हुआ जिसके बाद रचना के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर दी गई.

आधार का काम संभालने वाले यूआईडीएआई के अधिकारियों का कहना है कि आधार की जानकारी खरीदकर रचना खेरा ने अपराध किया है. यूआईडीएआई ने रचना और उनको जानकारियां मुहैया कराने वाले ‘एजेंटो’ के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत में कहा गया है कि इन लोगों ने भारत के निजता कानूनों का उल्लंघन किया है और इनके ख़िलाफ़ पुलिस कार्रवाई की जाए.

एडवर्ड की इस ट्वीट को यूएनएसडब्ल्यू में क़ानून और सूचना प्रणाली के प्रोफ़ेसर ग्राहम ग्रीनलीफ़ ने भी रिट्वीट किया.

प्रोफ़ेसर ग्रीनलीफ़ ने कहा कि, “ये निजता को लेकर हुई दुनिया की सबसे खतरनाक घटना है? एक तरफ भारत का आधार तो दूसरी तरफ चीन का सोशल क्रेडिट सिस्टम. हालांकि भारत के पास फिर भी सुप्रीम कोर्ट है, संविधान है और पुट्टास्वामी का मामला भी कुछ उम्मीद जगाता है, लेकिन चीन के पास यह भी नहीं है.”

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.