छिंदवाड़ा जिला प्रशासन ने अपनी तरह के पहले ‘मक्का उत्सव’ के आयोजन की घोषणा की

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नयी दिल्ली, 15 सितम्बर 2018 : देश का पहला दो दिवसीय मक्काउत्सव मध्य प्रदेश के छिंदवाडा में 29 सितम्बर से आयोजित कियाजायेगा। छिंदवाड़ा जिला प्रशासन ने गर्व के साथ यह घोषणा करते हुएबताया कि अपनी तरह का यह पहला राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम नागपुररोड के दशहरा मैदान के पोलो ग्राउंड में आयोजित किया जायेगा।

छिंदवाड़ा मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा मक्का उत्पादक जिला है औरइस उत्सव के माध्यम से, जिला प्रशासन उद्योगों, सरकारी संस्थाओं, नीतिनिर्माताओं, मीडिया, दुनियाभर के शोधकर्ताओं और छात्रों को एक मंचप्रदान करेगा ताकि वे एक छत के नीचे आयें और कृषि एवं उद्योग क्षेत्र मेंमक्का के विकास पर किसानों से चर्चा कर सकें। देश के मध्य में स्थितछिंदवाड़ा में औद्योगिक विकास की अपार संभावनायें हैं। इसकी नागपुर(130 किमी) और वर्धा शुष्क बंदरगाह (175 किमी) से नजदीकी इसेउद्योगों के लिये एक आदर्श स्थान के रूप में प्रस्तुत करती है। यह मध्यप्रदेश का सर्वाधिक मक्का उत्पादन करने वाला जिला है और यहां प्रतिहेक्टेयर 5200 किग्रा मक्का का उत्पादन होता है। ऐसे में, यह इस तरहका कार्यक्रम आयोजित करने के लिये एक सबसे उपयुक्त स्थान है।

इस उत्सव के तहत विभिन्न तरह के कार्यक्रम आयोजित कियेजायेंगे जिनमें मक्का की खेती,  उत्पाद विकास, बाजार का रुख, औद्योगिक इकाइयां और अन्य अनेक विषयों पर सेमीनार एवं प्रशिक्षणआदि शामिल हैं इस उत्सव में एक औद्योगिक मेले का भी आयोजनकिया जायेगा जहां मक्का उद्योग से जुड़ी इकाइयां अपनी विशेषताओं काप्रदर्शन करेंगी और अपने अंशधारकों से बातचीत करेंगी। उत्सव मेंमनोरंजन की भी व्यवस्था की गई है और लोक नृत्य, नाटक और संगीतकार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। उत्सव में आने वालों के लियेमक्का के विभिन्न व्यंजनों का लुत्फ उठाने की भी व्यवस्था की गई है औरये व्यंजन घरों और विश्व भर के प्रमुख रेस्तरां की रेसिपी के आधार परतैयार किये जायेंगे।

उत्सव के बारे में जानकारी देते हुए छिंदवाड़ा के जिला कलेक्टर श्रीवेद प्रकाश ने कहा, ‘इस उत्सव का मुख्य लक्ष्य मक्का उद्योग के क्षेत्र मेंशोध को बढ़ावा देना, इसका उत्पादन बढ़ाना है, क्योंकि मक्का एक ऐसाउत्पाद है जो विभिन्न तरीके से रोजमर्रा के भोजन में शामिल है, जैसेमक्के का आटा, मक्के का दलिया, कार्न ग्लूटेन और कार्न फ्लेक्स आदि।हमें उम्मीद है कि इसमें लोग उत्साह के साथ भागीदारी करेंगे जिससे हमेंउन लोगों के लिये एक बड़ा बाजार तैयार करने में सहायता मिलेगी जो इसदो दिवसीय आयोजन के जरिये मक्का उद्योग के क्षेत्र में कदम रख रहे हैं।

मक्का उत्सव 2018 को अनेक प्रतिष्ठित संस्थान प्रायोजित कर रहेहैं जिनमें कोटक महिन्द्रा बैंक लिमिटेड, आईआईएमआर (इंडियनइंस्टीट्यूट आफ मेज रिसर्च), जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश टूरिज्म, इंडियन काउंसिल आफ एग्रीकल्चर रिसर्च और मध्यप्रदेश शासन। टेरी ( एनर्जी एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट) को नालेज पार्टनरबनाया गया है जबकि औनिमस इंक (अमेरिका आधारित एक संस्थानजिसके कार्यालय सिंगापुर और भारत में हैं) को मोबिलिटी पार्टनर बनायागया है।

उत्सव का उदेश्य उद्योगों, सरकारी संस्थाओं और नीति निर्माताओं, मीडिया और भारत और विश्वभर के शोधकर्ताओं, उद्यमियों और छात्रों कोएक मंच प्रदान करना है जहां वे एक छत के नीचे किसानों और अन्यअंशधारकों से विभिन्न पहलुओं पर चर्चा कर सकेंगे। इसका उदेश्यकिसानों और उद्यमियों के बीच मक्का से जुड़ी विभिन्न औद्योगिकसंभावनाओं के बारे में जागरूकता पैदा करना है। इस समारोह को औरजीवंत बनाने के लिये इसमें मनोरंजन कार्यक्रमों को भी शामिल किया गयाहै।  

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.