आईपीएस अकादमी के इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड लेबोरेटरी डिपार्टमेंट द्वारा इंटर कॉलेज क्विज़ कम्पटीशन संपन्न

0
122

” अचल चौधरी तो अपने आप में एक यूनिवर्सिटी है, इन्होने एक ही प्रिमाईसिस में अनेक प्रोफेशनल कोर्स सफलता पूर्वक शुरू कर दिए,और आज इसका अनुकरण कई इंस्टिट्यूट कर रहे है” ये उद्द्बोधन देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के कुलपति श्री नरेन्द्र धाकड़ ने आईपीएस अकादमी के इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड लेबोरेटरी डिपार्टमेंट द्वारा इंटर कॉलेज क्विज़ कम्पटीशन के शुभारम्भ सत्र में कहे, कुलपति नरेन्द्र धाकड़ ने कहा कि इस तरह की क्विज कॉलेज मेंहोती रहनी चाहिए, ताकि छात्रो को दुनिया भर में विज्ञान क्षेत्र में हो रहे बदलाव से अपडेट होते रहे l

acting-course-Advertisement-final.jpg

कार्यक्रम के शुभारम्भ में आईपीएस अकादमी के प्रेसिडेंट श्री अचल चौधरी ने कॉलेज की प्रिंसिपल श्रीमती प्रेमलता एवं विभाग के सहयोगियों को इस आयोजन के लिए  बधाई दी साथ ही, सभी कॉलेज से आये छात्रो को अपने यहाँ शुरू होने वाले R&D सेंटर में अपने आईडिया के साथ इनोवेशन शुरू करने का आह्वान किया l अचल चौधरी जी ने बताया की हम अपने इंस्टिट्यूट के प्रिमैसिस में R&D सेंटर शुरू कर रहे है जहा कोई भी छात्र या फैकल्टी किसी भी क्षेत्र में अपने नये आईडिया के साथ यहाँ कार्य कर सकता है l

कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि युटीडी लाइफ साइंस डिपार्टमेंट  श्री अनिल कुमार जी ने बच्चो से एथनिक खोज के बारे में बताया, उन्होंने कहा की हमारी कोई भी नयी खोज में समाज एवं संस्कृति की विरासत को नुक्सान नहीं पहुचना चाहिए l

राज्य स्तरीय साइंस क्विज़ परतियोगिता में तकरीबन २० कॉलेज ने भाग लिया, जिसमे ग्यारह हज़ार का प्रथम पुरस्कार न्यू साइंस कॉलेज के नितेश तिवारी एवं चिरायु चौधरी को, द्वितीय पुरूस्कार पांच हज़ार का एक्रोपोलिस कॉलेज के यथार्थ तंवर एवं रिषभ हरदेनिया को,तृतीय पुरूस्कार इक्कीस सौ का गुजराती साइंस कॉलेज के रिषभ जैन को प्राप्त हुआ l

कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रिसिपल श्रीमती प्रेमलता गुप्ता साइंस क्विज की रूप रेखा भी बताई साथ ही उन्होंने इस इवेंट की महत्ता में भी प्रकाश डाला l

 

 

 

 

 

 

    'No new videos.'