क्या हड्डियों को मज़बूत करने के लिए दूध पीना चाहिए…..

सुनने में सच भी लगता है क्योंकि दूध में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों में पाए जाने वाले मिनरल के लिए फ़ायदेमंद होता है.

लेकिन दूध पीने से हड्डियों के मज़बूत होने का संबंध जितना सरल लगता है ये उतना ही जटिल है.

दूध और हड्डियों के बीच का संबंध समझने के के लिए साल 1997 में हावर्ड यूनिवर्सिटी ने 77000 महिला नर्सो पर एक शोध किया. इन महिलाओं के खानपान का 10 साल तक अध्ययन किया गया. शोधकर्ताओं ने पाया कि जो महिलाएं सप्ताह में एक बार या उससे भी कम दूध पीती हैं और जो सप्ताह में तीन या उससे अधिक बार दूध पीती हैं दोनों के हड्डियों के फ़्रेक्चर होने की संख्या में कोई अंतर नहीं था.

इस टीम ने ऐसा ही एक अध्ययन तीन लाख 30 हज़ार पुरूषों पर किया. और यहां भी हड्डियों के फ़्रैक्चर होने पर दूध पीने का कोई असर नहीं नज़र आया.

साल 2015 में न्यूज़ीलैंड की एक टीम ने दूध के ही इस असर को समझने के लिए एक ट्रायल किया. जिसमें कुछ लोगों के आहार में कैल्शियम तत्वों वाली चीज़ों को जोड़ा गया. इस टीम ने ऐसे ही पुराने 15 अध्ययनों की भी दोबारा समीक्षा की और पाया कि दो सालों तक तो कैल्शियम से हड्डियों के घनत्व पर असर पड़ा है लेकिन दो साल बाद वक़्त के साथ दूध से हड्डियों पर कुछ ख़ास फ़र्क़ नहीं पड़ता.

शरीर में कैल्शियम की आपूर्ति के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट भी लिए जाते हैं लेकिन उनके लंबे इस्तेमाल के ख़तरे भी हैं. न्यूज़ीलैंड की इस टीम ने कैल्शियम के सप्लिमेंट के असर को समझने के लिए 51 अन्य ट्रायल भी किए. इसमें सामने आया कि इनसे भी हड्डियों का मज़बूत होना एक या दो साल बाद बंद हो जाता है. ये कैल्शियम सप्लिमेंट बढ़ती उम्र के साथ सिर्फ़ हड्डियों के मिनरल के नुक़सान को कम कर सकता है या रोक सकता है.

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.