#100WOMEN: 100 वीमेन 2019 – कैसा होगा महिलाओं का भविष्य

0
26

बीबीसी की ख़ास मुहिम – बीबीसी 100 वीमेन – के इस साल के आयोजन में हिस्सा लेनेवाली 100 महिलाएँ ये सवाल पूछ रही हैं – “दुनिया भर में महिलाओं के लिए आने वाले दिन कैसे होने वाले हैं?”

acting-course-Advertisement-final.jpg

बीबीसी 100 वीमेन – ये बीबीसी की एक ख़ास मुहिम है जिसकी शुरुआत 2013 में हुई थी. इसके तहत बीबीसी साल दर साल ऐसी महिलाओं की कहानियों को दुनिया के सामने लेकर आती है जिनसे दुनिया भर की दूसरी महिलाओं को प्रेरणा मिल सकती है.

पिछले 6 सालों में 100 वीमेन सीरीज़ के तहत बीबीसी ने अलग अलग क्षेत्रों में काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया है.

मेक-अप उद्यमी बॉबी ब्राउन, संयुक्त राष्ट्र की डिप्टी सेक्रेटरी जनरल अमीना मोहम्मद, ऐक्टिविस्ट मलाला युसूफ़ज़ई, एथलीट सिमोन बायल्स, सुपरमॉडल एलेक वेक, म्यूज़िशियन अलीसिया कीज़ और ओलंपिक चैंपियन बॉक्सर निकोला ऐडम्स.

2019 में बीबीसी 100 वीमेन सीरीज़ में बात होगी ‘द फ़ीमेल फ़्यूचर’ की.

‘फ़्यूचरिज़्म’ यानी – भविष्य को देखने और उसे संवारने की प्रक्रिया. पितृसत्तात्मक समाज में अब तक भविष्य बनाने और संवारने का ज़िम्मा पुरुष ही उठाते रहे हैं. लेकिन इस साल बीबीसी की खास सीरीज़ 100 वीमेन, आप सबको ये बताने जा रही है कि अगर हमारा भविष्य महिलाओं द्वारा संचालित होगा तो कैसा होगा?

बीबीसी 100 वीमेन – सीजन 2019 की सबसे खास पेशकश हैं आने वाली दो फ़्यूचर कॉन्फ़्रेंस. पहली 17 अक्टूबर को लंदन में और दूसरी 22 अक्टूबर को दिल्ली में.

ये भी पढ़िएः

धुरंधर महिलाएँ

इन कॉन्फ़्रेंस में हम आपकी मुलाकात करावाएंगे उन महिलाओं से जो अपने-अपने क्षेत्र की धुरन्धर हैं- ऐसी महिलाएं, जो विज्ञान, कला, मीडिया, सिनेमा, शिक्षा, फैशन, धर्म, स्पेस और जेंडर के मुद्दों पर ज़ोरदार पकड़ रखती हैं और भविष्य को देखने-समझने के साथ उसको संवारने की ताक़त भी रखती हैं.

स्मार्टफ़ोन और 5G के इस ज़माने में हम आपको मिलवाएंगे एक ईरानी आंत्रप्रन्योर से, जो आपको बताएंगी आने वाले वक्त में यानी भविष्य के स्कूल कैसे होंगे?

इस कॉन्फ़्रेंस में आपकी मुलाक़ात होगी बंगलूरु की उस इंजीनियर से जो ‘स्पेस टूरिज्म’ जैसी नई अवधारणा से आपको रूबरू करवाएंगी।

source :- BBChindi

    'No new videos.'