इंदौर जिले में आगामी सभी त्यौहार एवं पर्व गंगा-जमुनी तहजीब के साथ मिलजुल कर मनाये जायेंगे

इंदौर जिले में आगामी सभी त्यौहार एवं पर्व मिलजुल कर गंगा-जमुनी तहजीब के साथ मनाये जायेंगे। शांति सद्भाव एवं एकता की गौरवशाली परम्परा को हर हाल में कायम रखा जायेगा। आयोजनों में डीजे का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

ये निर्णय आज यहां कलेक्टर कार्यालय में कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक में लिये गये। बैठक में डीआईजी श्रीमती रूचिवर्धन मिश्र, एसपी द्वय श्री मोहम्मद युसूफ कुरैशी एवं श्री महेशचन्द्र जैन, अपर कलेक्टर श्री दिनेश जैन तथा श्री बीबीएस तोमर सहित अन्य अधिकारी एवं शांति समिति के सदस्यगण मौजूद थे। बैठक में बताया गया कि आगामी मई माह तक विभिन्न धर्मों के 12 त्यौहार एवं पर्व प्रमुख रूप से मनाये जायेंगे। इन त्यौहारों एवं पर्वों के दौरान प्रशासनिक, पुलिस एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में बैठक में चर्चा की गयी। बैठक में इंदौर की रंगारंग गैर को यूनेस्को की सूची में शामिल करवाने के लिये जिला प्रशासन विशेषकर कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव की समवेत स्वर से सराहना की गयी। बैठक में कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव ने कहा कि इंदौर की गौरवशाली परम्परा को हर हाल में कायम रखा जायेगा। होली एवं रंगपंचमी के लिये प्राकृतिक रंग एवं गुलाल की बिक्री के नये केन्द्र खोले जायेंगे। उन्होंने कहा कि अभी परीक्षाओं का समय है। ऐसे समय में कोलाहल नियंत्रण अधिनियम का पूर्ण पालन किया जाये। उन्होंने कहा कि त्यौहारों के दौरान सामाजिक समरसता के वातावरण को बनाया रखा जाये। यह प्रयास किया जाये कि त्यौहार अलग-अलग नहीं बल्कि मिल-जुलकर सामुहिक रूप से मनाये जायें। उन्होंने त्यौहारों के दौरान की जाने वाली प्रशासनिक व्यवस्थाओं की जानकारी भी दी।

बैठक में डीआईजी श्रीमती रूचिवर्धन मिश्र ने त्यौहारों के दौरान की जाने वाली सुरक्षा व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि त्यौहारों के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे। शांति समिति की बैठकें थाना स्तर पर भी होंगी। उन्होंने कहा कि आयोजनों के दौरान अभद्रता एवं फुहड़ता नहीं की जाये। डीजे का उपयोग भी पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

बैठक में बताया गया कि त्यौहारों के दौरान पेयजल, साफ-सफाई, प्रकाश आदि की समुचित व्यवस्था रहेगी। परम्परागत आयोजनों को ही अनुमति दी जायेगी। होलिका दहन की अनुमति थाना/सीएसपी स्तर से मिलेगी। आयोजन के लिये अस्थायी विद्युत कनेक्शन लेना होंगे। शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारी संयुक्त भ्रमण नियमित करेंगे। बैठक में शांति समिति के सदस्यों ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये।

Send SMS to :
You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply