विदेशो से वापस लौट रहे भारतीयों को चौदह दिनों तक अलग-थलग करके रखा जा सकता है.

भारत सरकार ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए मंगलवार को कई तरह के यात्रा प्रतिबंधों की घोषणा की है. भारतीय नागरिकों से भी ग़ैर-ज़रूरी यात्राएं न करने के लिए कहा गया है. पंद्रह अप्रैल तक वीज़ा भी रद्द कर दिए गए हैं.

भारत सरकार ने पंद्रह अप्रैल तक सभी वीज़ा को रोक दिया है. इसमें राजनयिक, आधिकारिक, अंतरराष्ट्रीय संगठनों, रोज़गार और प्रोजेक्ट वीज़ा को छूट दी गई है. वीज़ा पर ये रोक 13 मार्च मध्यरात्रि 12 बजे से लागू हो जाएगी.

वहीं ओसीआई खाताधारकों को दी गई वीज़ा मुक्त यात्रा की सुविधा भी पंद्रह अप्रैल तक निलंबित रहेगी. हालांकि जो विदेशी भारत में मौजूद हैं उनके वीज़ा वैध रहेंगे.

वो सभी यात्री जो कोरोना संक्रमण से सबसे ज़्यादा प्रभावित देशों चीन, इटली, ईरान, उत्तर कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी से होकर भारत आ रहे हैं, इनमें भारतीय नागरिक भी शामिल हैं, को न्यूनतम चौदह दिन तक अलग-थलग रहना होगा. ये भी 13 मार्च मध्यरात्रि बारह बजे से लागू होगा.

यही नहीं भारत आ रहे सभी लोगों को भारत के भीतर ग़ैर-ज़रूरी यात्रा न करने की सलाह दी गई है और उन्हें भी चौदह दिन तक अलग-थलग करके रखा जा सकता है.भारत सरकार ने कहा है कि विदेश जा रहे सभी भारतीय नागरिकों को सख़्ती से सलाह दी जा रही है कि वो बेहद ज़रूरी न होने पर यात्रा न करें. वापस लौटने पर उन्हें भी कम से कम चौदह दिनों तक अलग-थलग करके रखा जा सकता है.

Send SMS to :
You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply