#Metoo का भूत भारत की संस्कृति को धूमिल करने का शगूफा तो नही….!!

0
49

चुनाव के पहले अचानक एक #metoo का मुददा सभी मीडिया प्रमुख में तेज़ी से उठा, और वो भी उन शख्सियत के बारे में जिन्होंने अपनी साख बनने में वर्षो खपा दिए, न जाने की बात की खुन्नस वर्षो बाद आई और, चिपका दिए उनको भारत माता के मुहाने में l

acting-course-Advertisement-final.jpg

जिस देश में महिला की पूजा होती है, जो लोग महिलाओ को माता,बहन, की संज्ञा देते है, उसी देश में कुछ बाहर के तत्व आकर harassment/assault का इलज़ाम लगाते हैl इलज़ाम भी ऐसा जिसकी पुष्ठी करने में वर्षो लग जाए l

अभी हॉल के कुछ महीने पहले एक मकान मालिक को वहा रहने वाली किरायेदार महिला ने झूठे आरोप में फंसा दिया था , जिसके कारण उसे तीन महीने की जेल काटनी पड़ी, अंततः जेल से छूटने पर उस व्यक्ति ने खुदखुशी कर ली l बाद में जांच में आया की उक्त महिला ने मकान खाली न करने पड़े इस लिए किसी की सलाह पर मकान मालिक के खिलाफ झूठी रिपोर्ट लिखवाई थी l

सरकार को इस तरह की घटनाओ में जागरूकता लानी होगी साथ ही जुल्म की पुष्टि के लिए समय सीमा रखनी होगी, ताकि समय रहते उसमे कानून अपना निर्णय ले सके, साथ ही जुल्म सिद्ध न होने पर प्रत्यारोपी पर अपराध कायम किया जा सके l

वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए ये गंभीर समस्या का समाधान करना अतिआवश्यक हो गया है , अन्यथा आने वाले दिनों में कॉर्पोरेट सेक्टर में महिलओं को नौकरी की गंभीर समस्याओ का सामना करना पड़ेगा l

    'No new videos.'