Category Archives: Campus placement News

टायकून काइली जेनर को फोर्ब्स मैगजीन ने साल 2020 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली सेलेब्रिटी

Kylie Jenner

काइली की हैरतअंगेज कमाई का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उनके नीचे मौजूद टॉप चार सेलेब्स की कमाई मिलाकर भी काइली से अधिक नहीं है. काइली के बाद अमेरिकन रैपर केनी वेस्ट, मशहूर टेनिस प्लेयर रोजर फेडरर, पुर्तगाल के सुपरस्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेंटीना के सुपरस्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी का नाम है.  

इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर अमेरिका के रैपर कैनी वेस्ट का नाम है. उन्होंने इस साल 170 मिलियन डॉलर्स यानी लगभग साढ़े 12 अरब की कमाई की है. वेस्ट और काइली के बीच काइली की बहन किम कार्दशियां के पति हैं. कैनी इससे पहले तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की थी हालांकि उन्होंने कुछ दिनों बाद ही अपने फैसले को बदल भी लिया था. 

    'No new videos.'

Nokia PureBook X14 लैपटॉप भारत में लॉन्च

Nokia PureBook X14 लैपटॉप को भारत में लॉन्च कर दिया गया है और इसकी बिक्री फ्लिपकार्ट के जरिए की जाएगी. ये नोकिया का पहला लैपटॉप है. इसमें Intel 10th-जेनरेशन प्रोसेसर दिया गया है और Windows 10 प्री-इंस्टॉल्ड है.

इसे मॉडल नंबर NKi510UL85S के साथ सिंगल कॉन्फिगरेशन में उतारा गया है. इसे मैट ब्लैक फिनिशिंग के साथ पेश किया गया है. इसकी स्क्रीन में साइड्स में स्लिम बेजल्स हैं और इसमें बड़ा टच पैड मौजूद है.

Nokia PureBook X14 की कीमत 59,990 रुपये रखी गई है और 18 दिसंबर से फ्लिपकार्ट से इसके लिए प्री-बुकिंग की जा सकेगी. फिलहाल कंपनी ने इसके लिए सेल डेट की घोषणा नहीं की है.

    'No new videos.'

पूर्व भाजपा नेता एवं वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा को श्रीनगर में रोका , वापस दिल्ली भेजा

पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा मंगलवार को श्रीनगर हवाईअड्डे पर पहुंचे लेकिन उन्हें शहर में नहीं जाने दिया गया और उन्हें आखिरी उड़ान से दिल्ली लौटना पड़ा.सिन्हा एयर मार्शल कपिल काक (सेवानिवृत्त) और सामाजिक कार्यकर्ता सुशोभा भावे के साथ आज शाम को श्रीनगर हवाईअड्डे पहुंचे.दिल्ली से आई एक उड़ान से सिन्हा को उतरते हुए देखकर हरकत में आए हवाईअड्डे के अधिकारी और पुलिस अफसर तत्काल उन्हें वीआईपी लाउंज में ले गये.

अधिकारियों को इस बारे में कोई सूचना नहीं थी कि सिन्हा को शहर में प्रवेश की इजाजत है या नहीं.81 वर्षीय सिन्हा को विनम्रता से वापसी के लिए कहा गया और उन्हें शहर में प्रवेश की इजाजत नहीं दी गयी जहां पांच अगस्त से संचार नेटवर्क नहीं हैं और पाबंदियां लागू हैं.अधिकारियों के मुताबिक सिन्हा ने अधिकारियों से वह आदेश दिखाने को कहा जिसके तहत उन्हें शहर में प्रवेश की इजाजत नहीं है.

उन्होंने दिल्ली नहीं लौटने की बात कही और प्रदेश के अधिकारियों को संदेश दिया कि वह तब तक हवाईअड्डे पर रहेंगे जब तक उन्हें शहर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाती.राज्य प्रशासन और पुलिस अधिकारियों ने अंतत: सिन्हा के साथ आए लोगों को मना लिया जिसके बाद सिन्हा को अंतिम उड़ान से दिल्ली रवाना किया गया. अन्य दोनों सदस्य श्रीनगर शहर में चले गये.पहले भी कई नेताओं को श्रीनगर में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली है और उन्हें हवाईअड्डे से ही दिल्ली लौटना पड़ा है.इनमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद और भाकपा महासचिव डी राजा शामिल हैं.

    'No new videos.'

विधायकों को अयोग्य ठहराने की कार्रवाई आगे न बढ़ाएं- Supreme Court

सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश कांग्रेस और जनता दल एस के 10 बागी विधायकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया. बागी विधायकों की याचिका पर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली तीन सदस्यीय पीठ अब मंगलवार को सुनवाई करेगी.

बीबीसी के सहयोगी सुचित्र मोहंती ने बताया कि बागी विधायकों की ओर से पेश वकील मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में दलील पेश की कि विधानसभा स्पीकर केआर रमेश कुमार ‘कुछ परिस्थितियों को छोड़कर’ कोर्ट के प्रति जवाबदेह हैं.

रोहतगी ने कहा, “कुछ प्रावधानों जहां उन्हें छूट मिली हुई है, वहां वो जवाब नहीं भी दे सकते हैं.”

स्पीकर रमेश कुमार की ओर से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि बागी विधायकों के ‘इस्तीफ़ा देने का मक़सद कुछ और है. ऐसा अयोग्य ठहराए जाने से बचने के लिए किया गया है.’

    'No new videos.'

आरआरबी (RRB) फरवरी या मार्च में 1 लाख 31 हजार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी करेगा

रेलवे (Railway) में बंपर भर्तियां होनी हैं. कुछ पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी हो चुका है और कुछ के लिए नोटिफिकेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा. आरआरबी (RRB) फरवरी या मार्च में 1 लाख 31 हजार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी करेगा. वहीं नोर्थेर्न रेलवे (Northern Railway) इस समय अपरेंटिस के पदों पर भर्ती कर रहा है. जिसके लिए आवेदन की आखिरी तारीख 31 जनवरी है. साथ ही नोर्थेर्न रेलवे कनीय अभियंता, तकनीशियन और क्लर्क के पदों पर भी भर्ती करेगा, जिसके लिए आवेदन की प्रक्रिया अभी चल रही है. अगर आप रेलवे में नौकरी करना चाहते हैं, तो ये मौका आपके लिए अच्छा है. ​

आरआरबी (RRB) में बंपर भर्ती
रेलवे (RRB) 2 लाख 30 हजार नए पदों पर भर्ती के लिए जल्द ही नोटिफिकेशन जारी करेगा. इस भर्ती में आर्थिक रूप से कमजोर उम्मीदवारों को 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा. कुल 23 हजार पद आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए होंगे. ये भर्ती 2 फेज में होगी. पहले फेज में 1 लाख 31 हजार 428 पदों पर भर्ती के

लिए नोटिफिकेशन जारी होगा. ये नोटिफिकेशन फरवरी या मार्च में जारी किया जाएगा. जबकि दूसरे फेज में 99 हजार पदों पर भर्ती के लिए मई-जून 2020 में नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा.

 

नोर्थेर्न रेलवे अपरेंटिस की भर्ती
नोर्थेर्न रेलवे (Northern Railway) ने हाल ही में अपरेंटिस के 1092 पदों पर भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली थी. अब इन पदों पर आवेदन की आखिरी तारीख नजदीक है. आप इन पदों पर 31 जनवरी 2019 तक आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने वाले उम्मीदवार का 10वीं और ITI पास होना अनिवार्य है.

Railway Job Notification

नोर्थेर्न रेलवे में कनीय अभियंता, तकनीशियन, क्लर्क के पदों पर वैकेंसी
नोर्थेर्न रेलवे  (Northern Railway)
योग्यता: ग्रेजुएट
नौकरी स्थान: नई दिल्ली
पदों की संख्या: 52

 

    'No new videos.'

जानें किस चीज से इम्प्रेस होकर देते हैं एप्पल में JOB..??

एप्पल भारत में पहली बार कैंपस प्लेसमेंट करने जा रही है. कैंपस प्लेसमेंट के जरिए वो होनहार इंजीनियर्स को भर्ती करने जा रहा है. आईआईटी हैदराबाद में एप्पल आने वाला है. जहां वो इंजीनियर्स का चयन करेगा.

एप्पल भारत में पहली बार कैंपस प्लेसमेंट करने जा रही है. कैंपस प्लेसमेंट के जरिए वो होनहार इंजीनियर्स को भर्ती करने जा रहा है. आईआईटी हैदराबाद में एप्पल आने वाला है. जहां वो इंजीनियर्स का चयन करेगा. यहां तक की उन्होंने आईआईटी हैदराबाद के करीब 300 स्टूडेंट्स का इंटरव्यू के लिए पंजीकरण भी कराया है. सभी बीटेक, एमटेक, इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स हैं. बता दें, इसके पहले गूगल, फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियां भी भारत में कैंपस कर चुकी हैं. देखा जाए तो भारत में एप्पल काफी लोकप्रिय है और कंपनी का भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट बनाने का भी प्लान है.

देती है बेहतरीन सैलरी पैकेज
एप्पल अपने कर्मचारियों को बेहतरीन सैलरी पैकेज देता है. कंपनी में जॉब करने की क्वालिफिकेशन डिग्री की जरूरत तो होती है. लेकिन, कंपनी डिग्री से इम्प्रेस नहीं होती. कंपनी को ऐसे इम्पोइज की जरूरत होती है जो किताबी ज्ञान के अलावा चीजों को आसानी से सुलझाने की भी काबिलियत हो. फोर्ब्स और बिजनेस इनसाइडर की रिपोर्ट के मुताबिक कर्मचारियों की सालाना कमाई भी 76 लाख से लेकर 83 लाख होती है.

ऐसी होती है पोजीशन और सैलरी
* पोजीशन – सॉफ्टवेयर इंजीनियर, इन लोगों की सालाना सैलरी 66 लाख से लकर 76 लाख तक होती है.
* पोजीशन – ग्लोबल सप्लाई मैनेजर, इन लोगों की सालाना सैलरी 83 लाख से ज्यादा होती है.
* पोजीशन – एट होम एडवाइजर की सालाना सैलरी 23 लाख होती है.
* पोजीशन – इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट मैनेजर की सालाना सैलरी 91 लाख तक होती है.

खास बातें-
* पूरी दुनिया में एप्पल के 1 लाख 23 हजार कर्मचारी हैं.
* 2016 में एप्पल ने 211 मिलियन आईफोन बेचे थे.
* 2016 की रिपोर्ट के अनुसार एप्पल के 17 देशों में 475 स्टोर्स हैं.
* कंपनी का नाम एप्पल इसलिए पड़ा, क्योंकि संस्थापक स्टीव जॉब्स को फल बहुत पसंद थे और वो एप्पल खाकर ही काम करते थे.
* एप्पल कंपनी की स्थापना अप्रैल फूल के दिन 1976 में हुई थी.

    'No new videos.'

इस शर्मीले लड़के को गूगल देगा हर साल 1.70 करोड़, जानिए सक्सेस की कहानी

इंदौर. आईआईटी इंदौर के स्टूडेंट गौरव अग्रवाल को वर्चुअल वर्ल्ड की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक गुगल ने हाल ही में 1.70 करोड़ सालाना पैकेज का ऑफर दिया है। मूलरूप से भिलाई के रहने वाले गौरव को मिला पैकेज इस साल का आईआईटी का तीसरा सबसे बड़ा पैकेज है। गौरव के दोस्त और परिजन उन्हें एक शर्मीला, लेकिन शार्प लड़का कहते हैं। हाल ही गौरव को ऑफर लेटर मिला है, लेकिन अपनी इस उपलब्धि का जश्न गौरव अपने परिवार के साथ नहीं मना पाए थे क्योंकि वे कोयम्बटूर में कम्प्युटर प्रोग्रामिंग की इंटरनेशनल कांटेस्ट ICPC के नेशनल राउंड में शामिल होने गए थे। भास्कर डॉॅट काॅम ने गौरव से बात करके जाना कि कैसे एक शर्मीला लड़का गुगल के हाइली पेड़ साफ्टवेयर इंजीनियर्स में से एक बना और कैसे साफ्टवेयर इंजीनियर पा सकते हैं मनचाही कंपनी में मनचाहा जॉॅब…।
चैम्पियन बनना है तो स्कूल से शुरू करें तैयारी : दुर्ग के डीपीएस से अपनी स्कूलिंग करने वाले गौरव बताते हैं कि आपको पता होना चाहिए कि आप क्या करना चाहते हैं। स्कूल लाइफ से गौरव के मन में कम्प्यूटर्स के लिए दीवानगी थी, उन्हें यह पता था कि उन्हें सिर्फ और सिर्फ कम्प्युटर साइंस में ही कुछ करना है। लेकिन गौरव ने स्कूल स्टडी को नजरअंदाज नहीं किया। वो कहते हैं कि यदि आप कम्प्युटर साइंस में आना चाहते हैं तो आपको स्कूल से ही फोकस स्टडी शुरू कर साइंस और मैथ्स पर बेस्ड एक्टिविटीज में पार्टिसिपेट करना चाहिए। गौरव स्कूल लाइफ से ही साइंस और मैथ्स ओलंपियाड में भाग लेने लगे थे। आईआईटी में आकर भी उन्होंने इसे जारी रखा। पिछले साल ही गौरव ने आईआईटी इंदौर की टीम के मेंबर के रूप में रूस में हुई ICPC के ग्लोबल कांटेस्ट में भाग लिया था। इसमें पूरी दुनिया की 122 टीम आई थी। जिसमें उनकी टीम को विश्व में 19 वां स्थान मिला था। गौरव के मुताबिक स्कूल से ही इस तरह की कांटेस्ट में भाग लेने से कॉन्फिडेंस भी बढ़ता है और चैलेंज एक्सेप्ट करने की आदत भी पड़ती है।

सिलेबस को नज़र अंदाज ना करें : आप चाहे आईआईटी में हों या देश के किसी दूसरे संस्थान में, आप सबसे पहले अपने सिलेबस को फालो करें। सिलेबस को नज़र अंदाज कर दूसरी स्टडी करने से बेहतर है कि सिलेबस को फालो करके एक्स्ट्रा स्टडी की जाए।
स्ट्रेटजी बनाए : सिलीकॉन वेली में गुगल जैसी कंपनी के साथ काम करना गौरव का सपना था। अगले साल मई में वह गुगल के कैलिफोर्निया वैली ऑफिस को ज्वाइन करेंगे। सिलिकॉन वैली में गुगल जैसी कंपनी के साथ काम करने के सपने को पूरा करने के लिए गौरव ने स्ट्रेटजी के साथ तैयारी शुरू की थी। उनके मुताबिक बतौर साफ्टवेयर इंजीनियर आप जिस कंपनी में या जिन कंपनियों में काम करना चाहते हैं आपको उनके मूल काम के बारे में जानकारी जुटाना चाहिए।

टारगेट कंपनी को फोकस करें : गौरव ने बताया कि गुगल के लिए आनॅलाइन टेस्ट देने के पहले उन्होंने गुगल के वर्क एनवायरमेंट और वर्किंग प्रोसेस के बारे में जानकारी जुटाई और फाइनल इंटरव्यू के पहले उन्होंने प्रोग्रामिंग की फिल्ड के दूसरे संस्थान के स्टूडेंट्स और फैकल्टीज के साथ लगातार संपर्क में रहा और कई मुद्दों पर डी-बेट भी किया। उनकी तैयारी पूरी थी, इसलिए उन्हें सलेक्शन का भरोसा था।

    'No new videos.'

इन्फोसिस का केम्पस ड्राइव इंदौर में

10 और 11 मई को इन्फोसिस इंदौर में अपना केम्पस ड्राइव रखेगी। इन्फोसिस इंदौर से पहले भोपाल और जबलपुर में भी केम्पस ड्राइव कर रही है। इस ड्राइव में उन कॉलेजों को भाग लेने की अनुमति नहीं होगी, जिनके छात्र पहले ही इन्फोसिस के केम्पस में बैठ चुके हैं। इस ड्राइव में सीएसई, आईटी, इलेक्ट्रानिक्स इंजिनियरों के अलावा एमसीए के छात्र भी हिस्सा ले सकेगें। कंपनी ने केम्पस के लिए सख्त मापदंड तय किए हैं। योग्यता पुरी करने वाले छात्रों को प्लेसमेंट में शामिल होने के लिए पंजीयन कराना होगा।

    'No new videos.'

एनआईआईटी टेक्नोलॉजी में सिलेक्ट हुए आईपीएस एकेडमी के ९ छात्र

आईपीएस एकेडमी में हुए केम्पस ड्राइव में एनआईआईटी टेक्नोलॉजी कम्पनी ने शिरकत करी। स्टूडेंट के ज्ञान, काबिलियत को देखते ही दिन में कम्पनी ने आईपीएस एकेडमी के 9 स्टूडेंट को सिलेक्ट किया। इस केम्पस ड्राइव में प्लेसमेंट डायरेक्टर राजीव शुक्ला, आशुतोष बक्शी व अनिरुद्ध कोशिक मौजूद थे, राजू शुक्ला ने सभी सिलेक्ट स्टूडेंट को बधाई दी।

    'No new videos.'

प्रदेश के युवाओं को प्रेरित करेंगे : नारायण मूर्ति

आज इन्फोसिस के लिए भी काफी गौरवशाली और ऐतिहासिक दिन हैं। अपने मूल्यों के साथ कंपनी आज देश के मध्यक्षेत्र और हृदय प्रदेश मध्यप्रदेश के इंदौर में अपने पहले कैंपस की आधारशिला रखने जा रही है। यह प्रदेश सांस्कृतिक दृष्टि से भी काफी उन्नत है।
यूरोप, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया व देश के अन्य शहरों की तुलना में इंदौर का कैंपस सबसे आधुनिक और बेहतर होगा। कंपनी पहले चरण में पांच हजार प्रोफेशनल्स को रोजगार देगी और तीन साल में पूरा कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कैंपस पूरा बनने पर 13 हजार प्रोफेशनल्स को सीधे और 52 हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। कंपनी चाहे तो जबलपुर, भोपाल, ग्वालियर या प्रदेश में अन्य किसी भी जगह अपने और कैंपस खोल सकती है, हम चाहते हैं कि कंपनी अब प्रदेश में ही अपने कैंपस बनाए।कंपनी के इंदौर में आने में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी प्रमुख कारण रहे हैं। साथ ही मंत्री कैलाश विजयवर्गीय की सबसे अहम भूमिका रही है। एक भी सप्ताह ऐसा नहीं रहा, जब उन्होंने फोन पर चर्चा कर इंदौर जल्द आने की बात न कही हो। हम कैबिनेट के हर सदस्य, सांसद, विधायक, महापौर, आईडीए सभी के आभारी हैं।

मैं 1970 के दशक में जब फ्रांस में था, तभी से विश्वास करता हूं कि देश में गरीबी दूर करने का एकमात्र रास्ता रोजगार है। ऐसा रोजगार जिससे अधिक से अधिक आय मिल सके। यह जरूरी है कि इस दिशा में देश के बिजनेसमैन, उद्योगपति काम करें। उद्योग लगाना और रोजगार उपलब्ध कराना सबसे महत्वपूर्ण हैं। देश के राजनीतिक नेतृत्व का भी यही पहला कदम होना चाहिए कि वह गरीबी दूर करने के लिए रोजगार पैदा करें।

    'No new videos.'