Category Archives: Digital

टेलीमेडिसिन सुविधा से घर बैठे होगा इलाज*

*व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल के माध्यम से ले सकेंगे परामर्श ,आवश्यकता पड़ने पर मेडिकल मोबाइल यूनिट घर पहुंचकर करेगी जांच*

       वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जब संपूर्ण देश करोना महामारी के संकट के दौर से गुजर रहा है, हर एक व्यक्ति को घर पर रहने की सलाह दी गई है। जिससे कि सोशल डिस्टेंसिंग अर्थात सामाजिक दूरी बनाई जा सके एवं कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके।

सोशल डिस्टेंसिंग तथा व्यक्तियों के घरों में रहने के उद्देश्य को सार्थक करने के लिए जिला प्रशासन ने इंदौर में टेलीमेडिसिन सुविधा की शुरुआत की है। इसके अंतर्गत *74892 44895* नंबर पर व्हाट्सएप वॉइस कॉल अथवा वीडियो कॉल के द्वारा एक्सपर्ट चिकित्सकों से परामर्श लिया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि, कोरोना के चलते लोगों के मन में भय की स्थिति भी है। तथा सामान्य सर्दी खांसी होने पर भी लोगों को तो कोरोना का भय सता रहा है। इस स्थिति से निपटने के लिए टेलीमेडिसिन सुविधा द्वारा व्यक्तियों की सर्दी, खांसी, जुकाम आदि के लक्षण देखकर आवश्यक परामर्श दिया जा सकेगा। ऐसी स्थिति जहां व्यक्ति को समक्ष में परामर्श आवश्यक है,
वहां मेडिकल मोबाइल यूनिट द्वारा संबंधित के घर पहुंच कर भी सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। जिला प्रशासन ने बताया इस सुविधा का मुख्य उद्देश्य लोगों को घर में रहने के लिए प्रेरित करना तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना है।

    'No new videos.'

डोनाल्ड का ट्विटर हुआ वायरल …भारत की लोकप्रियता ने ट्रम्प को बनाया हीरो

भारत यात्रा के लिए रवाना होने से कुछ घंटे पहले राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत में अपने दोस्तों से मिलने के लिए आशान्वित हूं.

लेकिन बात सिर्फ़ इतनी भर नहीं थी. उन्होंने ये बात एक ट्वीट के जरिए कही और साथ में एक वीडियो भी रीट्वीट किया जिसमें उन्हें ‘बाहुबली’ के तौर पर पेश किया गया था.

ट्रंप के ट्वीट के बाद ट्विटर पर इस वीडियो को लेकर हंगामे जैसी स्थिति बन गई.

इसका अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वीडियो ट्वीट होने के 24 घंटे के भीतर 18 लाख से ज़्यादा लोग इसे देख चुके हैं.

    'No new videos.'

क्या है ट्रम्प की ताजमहल के प्रति दीवानगी …!

आगरा। दुनिया के सात अजूबों में शामिल एक शहंशाह की मोहब्बत की निशानी और सफेद संगमरमर से बनी दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत ताजमहल का एक बार हर कोई दीदार करना चाहता है। यही वजह है कि जब भी कोई खास भारत आता है, तो वो ताज का दीदार करे बगैर नहीं जाता है। तो भला अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी ताज महल देखे बिना कैसे वापस जा सकते हैं। ट्रंप भी अपने परिवार संग आज ताजमहल को देखने आगरा पहुंचेंगे। हालांकि, ट्रंप कोई पहले अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं हैं, जो ताजमहल को निहारने आगरा पहुंचेंगे। उनके पहले भी अमेरिका के दो राष्ट्रपति ताज का दीदार कर चुके हैंआगरा। दुनिया के सात अजूबों में शामिल एक शहंशाह की मोहब्बत की निशानी और सफेद संगमरमर से बनी दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत ताजमहल का एक बार हर कोई दीदार करना चाहता है। यही वजह है कि जब भी कोई खास भारत आता है, तो वो ताज का दीदार करे बगैर नहीं जाता है। तो भला अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी ताज महल देखे बिना कैसे वापस जा सकते हैं। ट्रंप भी अपने परिवार संग आज ताजमहल को देखने आगरा पहुंचेंगे। हालांकि, ट्रंप कोई पहले अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं हैं, जो ताजमहल को निहारने आगरा पहुंचेंगे। उनके पहले भी अमेरिका के दो राष्ट्रपति ताज का दीदार कर चुके हैं।

गौरतलब है कि ट्रंप अपनी भारत यात्रा के दौरान सोमवार शाम को आगरा पहुंचेंगे। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी मेलानिया, बेटी और दामाद जैरेड कशनर मौजूद होंगे। आगरा उनके वेलकम के लिए तैयार है। जहां खुद सूबे के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल उनकी अगवानी करेंगे। तय कार्यक्रम के मुताबिक, ट्रंप सोमवार शाम साढ़े चार बजे एयरफोर्स वन विमान से खेरिया एयरपोर्ट पहुंचेंगे। जहां राज्यपाल आनंदी बेन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनका स्वागत करेंगे। इसके बाद वो सड़क मार्ग से होटल अमर विलास और फिर गोल्फ कार्ट से ताजमहल पहुंचेंगे। उनके स्वागत के लिए करीब 300 कलाकार प्रदेश की संस्कृति की झलक प्रस्तुत करेंगे। इसमें रामलीला, रासलीला से लेकर नौटंकी तक शामिल होगी।

    'No new videos.'

धुंधले पड़ रहे टिकटॉक स्टार

22 साल के अजय बरमन भारत में धुंधले पड़ रहे टिकटॉक स्टार हैं. वो धुंधले इसलिए नहीं पड़ रहे हैं कि उनका दौर ख़त्म हो रहा है, बल्कि उनका आरोप है कि हिंदू-मुस्लिम भाईचारे वाले वीडियो डालने के कारण उन्हें ‘शैडो बैन’ किया जा रहा है.

शैडो बैन करने का मतलब है कि कॉन्टेंट को इस तरह से चुपके से ब्लॉक कर दिया जाए कि वो प्लेटफ़ॉर्म के सभी यूज़र्स तक नहीं पहुंच सकें. कॉन्टेंट बनाने वाले को अचानक नहीं लगेगा कि उसके कॉन्टेंट को ढंग से प्रमोट नहीं किया जा रहा.

टिकटॉक राजनीतिक विषयों से शुरू से ही बचता रहा है. मगर बरमन ने हिंदू-मुस्लिम एकता पर 15 सेकंड का छोटे सा नाटक बनाकर 10 लाख से कुछ ही कम फॉलोअर्स बना लिए हैं. वह भी उस दौर में जब बहुत से लोगों को चिंता है कि भारत में दोनों समुदायों के बीच दूरियां बढ़ रही हैं.

बरमन का एक वीडियो बहुत सफल हुआ और उसे 25 लाख से अधिक व्यूज़ मिले. एक वीडियो में बरमन मुस्लिम शख़्स के वेश में हैं. उन्होंने सफ़ेद रंग की टोपी पहनी है और एक हिंदू उन्हें ले जा रहा है. बैकग्राउंड में सद्भाव भरा संगीत बज रहा है.

एक और लोकप्रिय स्किट में वो पाकिस्तान के एक मुस्लिम लेखक बने हैं जो भारत में एक किताब पर शोध करने आए हैं और दो हिंदू अजनबी उन्हें अपने यहां ठहराते हैं.

    'No new videos.'

तकनीक केवल साधन बनाने तक सीमित नहीं

जाने-माने अमरीकी अनुसंधानकर्ता रेमंड कुर्ज़विल ने इस सदी की शुरुआत में कहा था कि तकनीक केवल साधन बनाने तक सीमित नहीं है, ये एक प्रक्रिया है जो पहले से अधिक ताकतवर तकनीक को जन्म देती है.

उनका कहना था कि तकनीक के विकास की गति, एक दशक में कम से कम दोगुनी होगी. आज तकनीक जिस मुकाम पर पहुंच चुकी है, उससे साबित होता है कि उनका कहना ग़लत नहीं था.

लेकिन तेज़ी से होते तकनीक के विकास के साथ इसके बेक़ाबू हो जाने का डर भी उतनी ही तेज़ी से फैला है. वैज्ञानिकों और जानकारों में तकनीक से प्रेरित अनजान भविष्य का डर और उस पर चर्चा कोई नई बात नहीं है.

गूगल और एल्फाबेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने बीते सप्ताह कहा था कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को लेकर सावधानी बरतना बेहद ज़रूरी है.

बीते सप्ताह उनका एक लेख फाइनेन्शियल टाइम्स में छपा, जिसमें उन्होंने कहा, “इसमें कोई संदेह नहीं कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को लेकर नियमों का बनाया जाना ज़रूरी है. हम नई तकनीक पर लगातर काम करते रह सकते हैं. लेकिन बाज़ार व्यवस्थाओं को उसके किसी भी तरह के इस्तेमाल की खुली छूट नहीं होनी चाहिए.”

    'No new videos.'

Sunder Pichai गूगल अल्फाबेट के नए सीईओ..

लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन का कहना है कि वो मानते हैं कि वक्त आ गया है जब उन्हें अपने परिवारिक दायित्व निभाने हैं. हालांकि दोनों कंपनी के बोर्ड में रहेंगे.

21 साल पहले यानी 1998 में सिलिकॉन वैली (कैलिफ़ोर्निया) की एक गराज में गूगल बनी थी. इसके बाद 2015 में कंपनी में कई बड़े बदलाव किए गए और एल्फ़ाबेट को इसकी मूल कंपनी के रूप में बनाया गया. गूगल आज दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार है.

एल्फाबेट का काम था कि केवल सर्च के दायरे से आगे आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस की तरफ पैर पसारती गूगल के काम को “अधिक पारदर्शी और अधिक ज़िम्मेदार” बनाया जाए.

एल्फाबेट के अस्तित्व में आने के बाद पेज और सर्गेई ने इसका कार्यभार संभाला. उनका कहना था कि नई परियोजनाओं की तरफ ध्यान देने के लिए उन्होंने गूगल से मूल कंपनी से जाने का फ़ैसला किया.

लेकिन मंगलवार को एक ब्लॉग में लिखा 46 साल के पेज और सर्गेई ने एल्फाबेट से दूरी बनाने के फ़ैसले की घोषणा की.

बयान में उन्होंने कहा कि वो “सीधे तौर पर बोर्ड के सदस्य के तौर पर कंपनी से जुड़े रहेंगे, कंपनी के शेयरहोल्डर बने रहेंगे” लेकिन कंपनी के “प्रबंधन में बदलाव करने का प्राकृतिक वक्त आ गया है”.

“हम कभी कंपनी के प्रबंधन की भूमिका में नहीं थे और हमें लगता है कि कंपनी को चलाने के कोई और बेहतर तरीका हो सकता है. अब न एल्फाबेट और गूगल को दो-दो मुख्य कार्यकारी अधिकारी चाहिए न ही अध्यक्ष चाहिए.”

    'No new videos.'

भारत सरकार नए वर्ष २०२० से कुछ बदलाव करने जा रही है जाने …

डिजिटल ऐज में सरकार ने देश की जनता के जीवन को और सुगम बनाने की पहल करते हुए कुछ बदलाव किये है जिन्हें १ जनवरी २०२० से लागू किये जायेंगे …

पैनआधारलिंकिंग

याद है ना आपको कि पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2019 है. हाल ही में आयकर विभाग ने 31 दिसंबर तक पैन को आधार से लिंक करा लेने के लिए एक रिमाइंडर भी जारी किया था. अगर 31 दिसंबर तक आधार से पैन की लिंकिंग नहीं हुई तो PAN काम नहीं करेगा.

बैकोंसे NEFT करनेपरचार्जनहीं

1 जनवरी 2020 से ग्राहकों को बैंकों से एनईएफटी के जरिए किए जाने वाले लेनदेन के लिए कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा. नोटबंदी की तीसरी वर्षगांठ पर डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भारतीय रिजर्व बैंक ने इस संबंध में एक प्रस्ताव पेश किया था. वहीं 16 दिसंबर से 24 घंटे नेफ्ट ट्रांजेक्शन की सुविधा भी शुरू कर दी गई है.

रूपेकार्डऔर UPI सेलेनदेनपर MDR चार्जनहीं

1 जनवरी 2020 से 50 करोड़ रुपये से अधिक टर्नओवर वाली कंपनियों को अपने ग्राहकों को बिना किसी MDR शुल्क के डेबिट कार्ड और UPI QR कोड के जरिए भुगतान की सुविधा उपलब्ध करानी होगी. यानी रूपे कार्ड और UPI ट्रांजेक्शंस पर मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) शुल्क का वहन सरकार करेगी.

EPFO मेंबर्सकेलिए 1 जनवरीसेपेंशन ‘कम्युटेशन‘ सुविधा

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के कर्मचारी पेंशन योजना के तहत पेंशन कोष से एकमुश्त आंशिक निकासी यानी ‘कम्युटेशन’ की सुविधा 1 जनवरी से ले सकेंगे. इस सुविधा के तहत पेंशनधारक को एडवांस में पेंशन का एक हिस्सा एकमुश्त दे दिया जाता है. उसके बाद अगले 15 साल के लिए उसकी मासिक पेंशन में एक तिहाई की कटौती की जाती है. 15 साल बाद पेंशनभोगी पूरी पेंशन लेने के लिए पात्र होते हैं.

SBI ATM सेनएतरीकेसेकैशनिकासी

SBI ने वन टाइम पासवर्ड (OTP) बेस्ड ATM विदड्रॉल सुविधा लॉन्च की है, जो 1 जनवरी 2020 से लागू होगी. यह सुविधा नए साल से SBI ATM में रात 8 बजे से

सुबह 8 बजे के बीच 10000 रुपये से ज्यादा के ट्रांजेक्शन के लिए मिलेगी.

येडेबिटकार्डनहींकरेंगेकाम

अगर आपका भी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) में अकाउंट है और बैंक के एटीएम-डेबिट कार्ड (ATM or debit Card) कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो जान लें कि अब पुराने मैग्नेटिक एटीएम-डेबिट कार्ड को बदलवा लें। ग्राहकों को यह काम 31 दिसंबर 2019 तक करना है .क्योंकि वह नए साल से अपने पुराने एटीएम-डेबिट कार्ड से पैसे नहीं निकाल पाएंगे.

गाड़ियांहो जाएंगीमहंगी

टाटा मोटर्स, टोयोटा मोटर्स, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, मारुति सुजुकी, हुंडई मोटर इंडिया, मर्सिडीज-बेंज, किया मोटर्स और निसान मोटर इंडिया जनवरी से अपने वाहनों के दाम बढ़ाने जा रही हैं. कंपनियों का कहना है कि यह कदम उच्च इनपुट लागत के प्रभाव के चलते उठाया जा रहा है. टू-व्हीलर कंपनी हीरो मोटोकॉर्प (Hero MotoCorp) भी जनवरी से अपने वाहनों की कीमतों में वृद्धि की घोषणा कर चुकी है. कंपनी की सभी मोटरसाइकिलों और स्कूटरों के दाम 2000 रुपये तक बढ़ जाएंगे.

सर्विस टैक्स विवाद निपटाने का मौक़ा

सर्विस टैक्स और एक्साइज ड्यूटी से जुड़े पुराने लंबित विवादित मामलों के समाधान के लिए पेश की गई ‘सबका विश्वास योजना’ 31 दिसंबर 2019 को समाप्त होने जा रही है. अब इसे आगे विस्तार दिए जाने की संभावना नहीं है. योजना के तहत पात्र व्यक्तियों को पुराने विवादित मामले में स्वयं कर बकाए की घोषणा करते हुए उसका भुगतान करने का प्रावधान रखा गया है.

आधारसे GST रजिस्ट्रेशन

जीएसटी रजिस्ट्रेशन को आसान बनाने के लिए आधार के जरिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन का फैसला लिया गया है. नया जीएसटी रिटर्न फाइलिंग सिस्टम 1 जनवरी 2020 से लागू होगा.

    'No new videos.'

अमेरिका की बौनी बिल्ली ‘लिल बब’ की रविवार को मौत ..

सोशल मीडिया पर फॉलो की जाने वाली सबसे मशहूर बिल्लियों में से एक अमेरिका की बौनी बिल्ली ‘लिल बब’ की रविवार को मौत हो गई। 8 साल की की लिल बब के फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, टम्बरलर और यूट्यूब पर 67 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। इसके अलावा, इस बिल्ली की अपनी वेबसाइट और खुद का ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर भी है।

कई शारीरिक परेशानियों से पीड़ित इस बिल्ली के सम्मान में एक नेशनल फंड बनाया गया था। इस फंड में इसकी मदद से विशेष जरूरतों वाले जानवरों की मदद के लिए करीब 5 करोड़ रुपए जुटाए गए हैं। नासा ने भी इंस्टाग्राम पर बिब को श्रद्धांजलि दी। लिखा, “अंतरिक्ष में मिलेंगे। प्यारी बब। आपकी यात्रा सुरक्षित रहे।”

‘हड्डी के संक्रमण से जूझ रही थी’ 

लिल बब के मालिक माइक ब्रिडावस्की ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर बिल्ली की याद में एक पोस्ट लिखकर कहा, “वह शनिवार के रात अपने परिवार के साथ खुशी-खुशी बिस्तर में गई थी। लेकिन, रविवार सुबह अचानक हमारे जागने से पहले ही वह अपनी नींद में शांति से गुजर गई। मैं हमेशा उसके स्वास्थ्य के बारे में पूरी तरह से पारदर्शी रहा हूं, और यह कोई रहस्य नहीं था कि वह लगातार और हड्डी के संक्रमण से जूझ रही थी।”

    'No new videos.'

हिन्द का तोता कवि, शायर, गायक और संगीतकार अमीर खुसरो

चौदहवीं सदी के लगभग दिल्ली के निकट रहने वाले एक प्रमुख कवि, शायर, गायक और संगीतकार थे। उनका परिवार कई पीढ़ियों से राजदरबार से सम्बंधित था I स्वयं अमीर खुसरो ने 7 सुल्तानों का शासन देखा था I अमीर खुसरो प्रथम मुस्लिम कवि थे जिन्होंने हिंदी शब्दों का खुलकर प्रयोग किया है I वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने हिंदी, हिन्दवी और फारसी में एक साथ लिखा I उन्हे खड़ी बोली के आविष्कार का श्रेय दिया जाता है I वे अपनी पहेलियों और मुकरियों के लिए जाने जाते हैं। सबसे पहले उन्हीं ने अपनी भाषा के लिए हिन्दवी का उल्लेख किया था। वे फारसी के कवि भी थे। उनको दिल्ली सल्तनत का आश्रय मिला हुआ था। उनके ग्रंथो की सूची लम्बी है। साथ ही इनका इतिहास स्रोत रूप में महत्त्व है। अमीर खुसरो को हिन्द का तोता कहा जाता है

मध्य एशिया की लाचन जाति के तुर्क सैफुद्दीन के पुत्र अमीर खुसरो का जन्म सन् 1253ईस्वी (६५२ हि.) में एटा उत्तर प्रदेश के पटियाली नामक कस्बे में हुआ था। लाचन जाति के तुर्क चंगेज खाँ के आक्रमणों से पीड़ित होकर बलबन (१२६६(1266)-१२८६(1286) ई0) के राज्यकाल में ‘’शरणार्थी के रूप में भारत में आ बसे थे। खुसरो की माँ बलबनके युद्धमंत्री इमादुतुल मुल्क की पुत्री तथा एक भारतीय मुसलमान महिला थी। सात वर्ष की अवस्था में खुसरो के पिता का देहान्त हो गया। किशोरावस्था में उन्होंने कविता लिखना प्रारम्भ किया और २० वर्ष के होते होते वे कवि के रूप में प्रसिद्ध हो गए। खुसरो में व्यवहारिक बुद्धि की कोई कमी नहीं थी। सामाजिक जीवन की खुसरो ने कभी अवहेलना नहीं की। खुसरो ने अपना सारा जीवन राज्याश्रय में ही बिताया। राजदरबार में रहते हुए भी खुसरो हमेशा कवि, कलाकार, संगीतज्ञ और सैनिक ही बने रहे। साहित्य के अतिरिक्त संगीत के क्षेत्र में भी खुसरो का महत्वपूर्ण योगदान है I उन्होंने भारतीय और ईरानी रागों का सुन्दर मिश्रण किया और एक नवीन राग शैली इमान, जिल्फ़, साजगरी आदि को जन्म दिया I भारतीय गायन में क़व्वालीऔर सितार को इन्हीं की देन माना जाता है। इन्होंने गीत के तर्ज पर फ़ारसी में और अरबी ग़जल के शब्दों को मिलाकर कई पहेलियाँ और दोहे भी लिखे हैं।

    'No new videos.'

उद्धव ठाकरे सरकार ने बहुमत जीता ..!

शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस के महा विकास अघाड़ी गठबंधन की ओर से उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाला था.

दो बजे जब विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई तो विपक्ष ने विरोध किया. विपक्षी पार्टी बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने सरकार पर नियमों को ताक पर रखकर सदन चलाने का आरोप लगाया है.

बीजेपी की ओर से मंत्रियों की शपथ को ग़लत क़रार देने और संविधान के नाम की शपथ न लिए जाने के आरोप पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि हां, उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज और अपने माता-पिता के नाम पर भी शपथ ली.

उन्होंने कहा कि अगर यह अपराध है तो मैं यह अपराध फिर से करूंगा.

सदन में सबसे पहले सदस्यों की गिनती हुई और उनसे हां या ना में जवाब मांगा गया. इस दौरान बीजेपी के सदस्य हंगामा करते रहे, उनका कहना था कि ये सब नियमों के ख़िलाफ़ हो रहा है.

सरकार के पक्ष में 169 विधायकों ने वोट दिया और इस दौरान विपक्ष में कोई भी वोट नहीं पड़ा क्योंकि बीजेपी ने सदन से वॉकआउट कर दिया था. इस दौरान चार विधायक तटस्थ रहे जिनमें महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और एआईएमआईएम के विधायक शामिल हैं.

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने शिवसेना नेता और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में विश्वास मत का अनुमोदन किया था.

    'No new videos.'