Category Archives: Food Factory

रेसिपी: घर में बनाएं ‘क्रीमी पोटैटो-चीज मोमोज’….!!

मोमोज ज्यादातर लोगों के पसंदीदा खानो में शुमार होते हैं. लेकिन बाहर के खाने से परहेज करने वाले लोग अपनी सेहत के चलते मोमोज नहीं खा पाते. जानिए घर में कैसे बनते हैं ‘क्रीमी पोटैटो-चीज मोमोज’.

मोमोज तिब्बत की रैसिपी है. खाने में बड़े ही स्वादिष्ट होते है, इसलिये भारत में मोमोज बहुत पसन्द आने लगे हैं, मोमोज (Tibetan Steamed Dumplings) बनाने में तेल का प्रयोग बहुत ही कम होता है, और इस खाने को भाप से पकाया जाता है. इसलिये मोमो जल्दी पचने वाला और पोष्टिक खाना है.

मोमोज़ भाप में पकाए जाते हैं. इन्हे बनाने में तेल भी बहुत कम लगता है. इसलिए ये खाने में हल्के और पौष्टिक भी होते हैं. मोमोज़ एक तिब्बती, लज़ीज़ व्यंजन है जिसे भारत में लोग बेहद पसंद करते हैं.

सामग्री

 

भरावन के लिए
आलू- 1/4 किलो (कद्दूकस)
पनीर- 1/2 कप
अदरक-लहसुन पेस्ट- 2 चम्मच
नमक- 1/4 चम्मच
बारीक कटा हरा प्याज- 1 चम्मच
तेल- 2 चम्मच
गूंदने के लिए
मैदा- 2 कप
नमक- 1/2 चम्मच
बेकिंग पाउडर- 1/2 चम्मच
 विधि
कद्दूकस किए हुए आलू का पानी पूरी तरह से निचोड़ें. भरावन की सभी सामग्री को एक बाउल में डालकर अच्छी तरह मिलाएं. मैदा, नमक और बेकिंग पाउडर को मिलाएं और पर्याप्त पानी की मदद से गूंद लें. गूंदे हुए मैदे को बहुत पतला बेल लें और छोटे-छोटे गोले में काटें या छोटी-छोटी पूरियां बेलें. हर पूरी के बीच में तैयार मिश्रण डालें और पूरी के किनारों को सील करें और बीच से ट्विस्ट करके उसे मोमोज का आकार दें. सारे मोमोज ऐसे ही तैयार करें. 10 से 12 मिनट तक भाप पर पकाएं. मोमोज की लाल वाली चटनी के साथ सर्व करें.

    'No new videos.'

तनाव को पलभर में दूर कर देगा ये खास जूस..!!

तनाव की वजह से न केवल दिमाग बल्कि सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है जिसकी वजह से सोचने और समझने की क्षमता भी डगमगाने लगती है। ऐसे में ये तरीका आपकी मदद कर सकता है लेकिन इसके लिए आपको कहीं बाहर नहीं बल्कि अपनी रसोई का रुख करना होगा। हमारी रसोई में इस्तेमाल होने वाले मसालों के साथ-साथ कुछ ऐसे आहार भी होते हैं जिन्हें खाना आपकी सेहत को ठीक रखता है और उन्हीं में से अदरक और लौकी भी हैं।

लौकी कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होती है तो वहीं अदरक कई सारी बीमारियों को दूर भगाने में कारगर होती हैं ऐसे में एक गिलास लौकी के जूस में करीब दो चम्मच अदरक का रस डालकर पीने से तनाव कम होने में सहायता मिलती है। आपको बता दें कि लौकी और अदरक के मिश्रण को कोलिन के नाम से जाना जाता है। कोलिन तनाव को कम करने में मदद करता है इसी वजह से दोनों चीजों का मिश्रण तनाव को चुटकियों में दूर कर देता है।

    'No new videos.'

लौंग की चाय के फायदे..!!

अगर आप चाय पीने के शौकीन हैं और उन लोगों में से हैं जिनकी सुबह चाय के प्याले के बिना शुरू ही नहीं होती है तो एकबार लौंग वाली चाय जरूर पीजिए. लौंग वाली चाय सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है. आसान शब्दों में कहें तो लौंग वाली चाय एक औषधि है.

कैसे बनाएं लौंग की चाय :

एक छोटी चम्मच लौंग को पीस कर चूर्ण बना लें।
अब इस चूर्ण को एक कप पानी में मिलाकर 10 मिनट तक उबलने दें।
उबलने के बाद इसमें चाय की पत्ती को भी डालकर उबलने के लिए छोड़ दें। और थोड़ी सी चीनी भी आप इसमें डाल सकते हो।
इसके बाद इसे छाने और इसका सेवन करें।

यदि बुखार आ गया हो तो एैसे में चाय में लौंग को डालकर पीने से बुखार से राहत मिलती है। बुखार को प्राकृतिक व घरेलू तरीके से ठीक करने की कारगर दवा है लौंग।

1. अगर आपको ओरल प्रॉब्लम है तो लौंग वाली चाय पीना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगी. लौंग वाली चाय के नियमित सेवन से मसूड़ों और दांतों से जुड़ी लगभग सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं. इससे मुंह में मौजूद बैक्टीरिया भी साफ हो जाते हैं.

2. अगर आपको सर्दी है और सीने में जकड़न है तो भी लौंग वाली चाय पीना फायदेमंद रहेगा. इससे कफ साफ होता है और जकड़न दूर होती है.

3. लौंग में मैग्नीशियम पाया जाता है जिससे बैक्टीरियल इंफेक्शन में फायदा होता है. साथ ही इम्यूनिटी पावर भी बढ़ती है.

4. लौंग की चाय उन लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद है जिन्हें अक्सर पेट से जुड़ी परेशानियां रहती हैं. अगर आपको अक्सर एसिडिटी और पेट दर्द की शिकायत रहती है तो आज से ही लौंग वाली चाय पीना शुरू कर दें.

5. स्क‍िन के लिए भी लौंग बहुत फायदेमंद है. नियमित रूप से लौंग की चाय पीने पर स्क‍िन से जुड़ी कई तरह की प्रॉब्लम नहीं होती है.

    'No new videos.'

गलती से भी न खाएं ये चीजें…!

पहले जमाने में लोग कई चीजों को बिना पकाए खा लिया करते थे लेकिन समय के साथ धीरे-धीरे सब कुछ बदला और लोग अब ज्यादातर चीजों को पकाकर खाना ही पसंद करते हैं. हालांकि कुछ लोग कई चीजों को अभी भी कच्चा ही खा लेते है अगर आप भी कुछ ऐसा ही कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि ऐसा करना आपकी सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है.
तो चलिए आपको बताते है कि किन चीजों को कच्चा खाना नुकसान पहुचा सकता हैं:-

बादाम
बादाम को हमेशा भिगोकर ही खाना चाहिए। कच्चे बादाम में साइनाइड होता है। इसके साथ ही बादाम को रातभर भिगोने से टैनिन दूर होता है और पोषक तत्व आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाते हैं।

हरा आलू
कच्चा आलू भी सेहत के लिए हानिकारक साबित होता है। हरे आलू में सोलानीन नाम का पदार्थ होता है जो शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इसके साथ ही सिर दर्द और पेट दर्द की समस्या हो सकती है।

hara aloo

कच्चा अंडा
अंडे को हमेशा पकाकर या फिर उबाल कर ही खाना चाहिए। अक्सर लोग अंडे को कच्चा ही खा लेते हैं जो आपकी सेहत के लिए हानिकारक होता है। कच्चे अंडे में साल्मोनेला बैक्टीरिया पाया जाता है जिससे पेट दर्द के अलावा कई सारी बीमारियां हो सकती हैं।

kacha anda

राजमा
राजमा हर एक को पसंद होता है लेकिन जितना पका हुआ राजमा सेहत के लिए लाभकारी होता है उतना ही कच्चा राजमा हानिकारक होता है। कच्चा राजमा खाने से डाइजेशन सिस्टम पर असर पड़ता है जिसकी वजह से चक्कर और उल्टियां होने लगती है।

rajma

    'No new videos.'

“जूस या फल….!! किस्से होगा फायदा??”

आज के दौर में सभी फलो को साबुत खाने की बजाय उनका जूस पीना पसंद करते है. लेकिन भोत से ऐसे फल भी है जिनक जूस के बजाय साबुत खाने से होगा ज्यादा लाभ| तो आइये हम ये जाने की किस फल के साबुत खाने से होगा क्या लाभ…..
अनार के जूस की बजाए खाएं दानें…
2

अनार के बीज पेट संबंधित समस्या से बचाते हैं इसलिए हो सके तो अनार के जूस की जगह अनार के दानों का सेवन करें। दोनों में सबसे ज्यादा लाभकारी अनार के दानें होते हैं।

संतरे का ऐसे ही करें सेवन..
3

संतरे में अधिक मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है साथ ही उसकी ऊपरी परत में पेक्टिन पाया जाता है जो एक नेचुरल फाइबर है। इसे खाने से पेट से संबंधित समस्याएं दूर हो जाती है। इसलिए इसे बिना जूस निकाले खाना चाहिए।

करेले का जूस रोजाना पीना बन सकता है खतरा..

4

करेला का जूस डायबटीज पेशेंट ज्यादातर पीते हैं। इसका कड़वापन शरीर में शुगर मात्रा को कम करता है। लेकिन इसका रोजाना सेवन आपकी सेहत के लिए हानिकारक होता है। इसके ज्यादा सेवन से हीमोलाइटिक एनीमिया हो सकता है। जिसमें पेट दर्द, सिर दर्द, बुखार जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

गन्ने का जूस…

sugarcan-juice-1450886819

गन्ने का एक गिलास जूस ही आपके शरीर में शुगर लेवल को बढ़ा देता है। इसलिए इसे रोजाना न पिएं हो सके कुछ दिनों को अंतराल जरूर रखें।

    'No new videos.'