Category Archives: National

टायकून काइली जेनर को फोर्ब्स मैगजीन ने साल 2020 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली सेलेब्रिटी

Kylie Jenner

काइली की हैरतअंगेज कमाई का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उनके नीचे मौजूद टॉप चार सेलेब्स की कमाई मिलाकर भी काइली से अधिक नहीं है. काइली के बाद अमेरिकन रैपर केनी वेस्ट, मशहूर टेनिस प्लेयर रोजर फेडरर, पुर्तगाल के सुपरस्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेंटीना के सुपरस्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी का नाम है.  

इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर अमेरिका के रैपर कैनी वेस्ट का नाम है. उन्होंने इस साल 170 मिलियन डॉलर्स यानी लगभग साढ़े 12 अरब की कमाई की है. वेस्ट और काइली के बीच काइली की बहन किम कार्दशियां के पति हैं. कैनी इससे पहले तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की थी हालांकि उन्होंने कुछ दिनों बाद ही अपने फैसले को बदल भी लिया था. 

    'No new videos.'

Nokia PureBook X14 लैपटॉप भारत में लॉन्च

Nokia PureBook X14 लैपटॉप को भारत में लॉन्च कर दिया गया है और इसकी बिक्री फ्लिपकार्ट के जरिए की जाएगी. ये नोकिया का पहला लैपटॉप है. इसमें Intel 10th-जेनरेशन प्रोसेसर दिया गया है और Windows 10 प्री-इंस्टॉल्ड है.

इसे मॉडल नंबर NKi510UL85S के साथ सिंगल कॉन्फिगरेशन में उतारा गया है. इसे मैट ब्लैक फिनिशिंग के साथ पेश किया गया है. इसकी स्क्रीन में साइड्स में स्लिम बेजल्स हैं और इसमें बड़ा टच पैड मौजूद है.

Nokia PureBook X14 की कीमत 59,990 रुपये रखी गई है और 18 दिसंबर से फ्लिपकार्ट से इसके लिए प्री-बुकिंग की जा सकेगी. फिलहाल कंपनी ने इसके लिए सेल डेट की घोषणा नहीं की है.

    'No new videos.'

दीपावली के दिन सिर्फ शाम 8:00 से 10:00 तक पटाके चलने की छूट – सुप्रीम कोर्ट

एक जनहित याचिका में अपना फैसला सुनते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दिवाली के दिन सिर्फ दो घंटे ही पटाखे जलाये, वो भी कम धुवे वाले, ताकि प्रदुषण कम से कम फैले l कोर्ट के इस फैसले से सभी देशवासी हतप्रद है l

ट्विस्ट मोबाइल के फाउंडर एवं सीईओ विराट खुटाल आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहते है, “ये तो बड़ी अजीब सी बात है कि त्योहारों में कोर्ट का इस तरह पाबन्दी लगाना देश को एक पाषाणयुग( स्टोन ऐज) में ले जाने जैसा है” , कल से कोर्ट मुश्लिम के ईद में होने वाली पद्दति पर भी रोक लगा सकती है, क्योकि ये भी पर्यावरण को दूषित करता हैl  विराट कहते है कही ऐसा तो नहीं की कुछ ताकते देश में सरकार को अस्थिर करना चाह रही है, और अराजकता फैलाना चाह रही है ..?

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि दिवाली पर लोग रात 8-10 बजे तक ही पटाखे चला सकेंगे। यह आदेश सभी धर्मों के त्यौहारों पर लागू होगा।सर्वोच्च न्यायालय ने यह भी कहा है कि जो पटाखें चलाए जाएं वो कम धुएं और आवाज वाले हों ताकि प्रदूषण ना फैले। सर्वोच्च न्यायालय ने पटाखों की बिक्री पर से भी कुछ शर्तों के साथ रोक हटाई है। इसके तहत पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर रोक लगा दी है।

बीजेपी नेता राजू सोमानी का कहना है कि ये तो सरासर अन्याय है कि अब हम अपना त्यौहार भी कानून के संगीनों के साए में मनाएंगे,l

वही गृहणी मंजुला त्रिपाठी कहती है, इस तरह कोर्ट यदि हर बात में निर्णय देने लगेगी तो हमारा जीना मुश्किल हो जायेगा, कॉलेज स्टूडेंट मुकुंद का कहना है हम ये बाते तो नहीं मानेगे फिर चाहे जो हो जाये l

    'No new videos.'

कश्मीर को लेकर दुष्प्रचार ज्यादा फैलाया जा रहा है”:- आलिया भट्ट

लोगों के बीच इन चर्चाओं का एक निष्कर्ष ये रहता है कि कश्मीर सुरक्षित जगह नहीं है. लेकिन फ़िल्म अभिनेत्री आलिया भट्ट ऐसी बातों से इत्तेफाक नहीं रखती हैं.

आलिया कहती हैं, ”कश्मीर को लेकर दुष्प्रचार ज़्यादा फैलाया जा रहा है. यह बात लोगों के मन में बैठा दी गई है कि यह जगह असुरक्षित है पर ऐसा है नहीं. कश्मीर पूरी तरह से सुरक्षित है.”

बीबीसी से बातचीत में आलिया ने कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा की.

आलिया इन दिनों अपनी फिल्म ‘राज़ी’ की शूटिंग के सिलसिले में कश्मीर में हैं. फिल्म की ज़्यादातर शूटिंग यहीं हुई है.

    'No new videos.'

सेवानिवृत्त नौकरशाहों का देश में अल्पसंख्यकों के प्रति भेदभाव को लेकर सरकार के नाम एक खुला पत्र

माननीय,

हम, अलग-अलग सेवाओं और बैच के सेवानिवृत्त नौकरशाह देश में हो रही हिंसा की निरंतर घटनाओं, ख़ासकर जिनमें अल्पसंख्यक निशाने पर हैं, और इन हमलों को लेकर कानून लागू करवाने वाले तंत्र के ढीले रवैये को लेकर गहरी चिंता दर्ज कराना चाहते हैं.

बाबरी मस्जिद ढहाए जाने की 25वीं बरसी पर राजस्थान के राजसमंद में पश्चिम बंगाल के एक कामगार मोहम्मद अफ़राज़ुल की हत्या ने हम सभी को अंदर तक हिला कर रख दिया.

इस जघन्य कृत्य का वीडियो बनाना और फिर इंटरनेट पर इस हत्या को सही ठहराने की कोशिश उस समावेशी और बहुलता भरे समाज की जड़ों को काटने के समान है, जिसे बुद्ध, महावीर, अशोक, अकबर, सिख गुरुओं, हिंदू संतों और गांधी की शिक्षाओं से प्रेरणा मिलती है.

पिछले नौ महीनों में, हमने 3 अप्रैल को पहलू ख़ान की मौत होते हुए देखी जिस पर 1 अप्रैल को अलवर में बेहरोर के पास कथित गौर रक्षकों ने की एक भीड़ ने हमला कर दिया था.

उसने जिन हत्यारों का नाम लिया था उन्हें अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है. हालांकि, अन्य सात लोगों को गिरफ्तार किया गया था और बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया.

दूसरी हत्या ज़फ़र ख़ान की हुई थी जिसे 16 जून को स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर मार डाला गया.

प्रतापगढ़ में म्यूनिसिपल चेयरमैन और अन्य सफाई कर्मचारियों ने कथित तौर पर उसे मार डाला, जब वह प्रतापगढ़ को खुले में शौच मुक्त बनाने के अभियान के नाम पर लोगों को अपमानित किए जाने का विरोध कर रहा था.

इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई क्योंकि पुलिस दावा करती है कि ज़फ़र ख़ान की मौत हार्ट अटैक से हुई.

    'No new videos.'

हाथी और उसके बच्चे को लगी आग, जानिए इस वायरल फोटो की सच्चाई?

सोशल मीडिया पर जो चीज आती है और वो लोगों पर छाप छोड़ जाती है वो वायरल हो जाती है. ऐसी ही एक फोटो वायरल हो रही है. जिसमें हाथी और उसके बच्चे को आग लग गई है और बचने के लिए वो इधर-उधर भग रहे हैं.

सोशल मीडिया पर जो चीज आती है और वो लोगों पर छाप छोड़ जाती है वो वायरल हो जाती है. ऐसी ही एक फोटो वायरल हो रही है. जिसमें हाथी और उसके बच्चे को आग लग गई है और बचने के लिए वो इधर-उधर भग रहे हैं. जिसको देखकर लोग भी डर जाते हैं और दूर भागने लगते हैं. सोशल मीडिया पर ये फोटो खूब वायरल हो रही है. लेकिन इस फोटो की सच्चाई बहुत कम लोग जान पाए हैं. आइए जानते हैं क्या है इस फोटो की सच्चाई…

पश्चिम बंगाल की है यह फोटो
दरहसल ये फोटो बंगाल के बांकुड़ा जिले की है. जहां हाथियों पर कई अत्याचार होते हैं. ये फोटो फोटोग्राफर विप्लव हाजरा ने क्लिक की है. इस फोटो के लिए उन्हें सैंक्चुअरी वाइल्डलाइफ फटॉग्रफी अवॉर्ड मिला है. इस फोटो के पीछे की कहानी थोड़ी अलग है. इस फोटो को देखकर लग रहा होगा कि हाथी लोगों को परेशान कर रहे हैं. लेकिन, असल में लोगों ने हाथी और उसके बच्चे पर पटाखे और बम फेंके थे. जिससे बचने के लिए वो दोनों जंगल की और भाग रहे हैं. हाथी का बच्चा आग लगने की वजह से जोर-जोर से चिल्ला रहा है और लोग भगते नजर आ रहे हैं.

फाउंडेशन ने प्रेस रिलीज कर बताई सच्चाई
सैंक्चुअरी नेचर फाउंडेशन ने प्रेस रिलीज करते हुए लिखा है- ‘पश्चिम बंगाल के बांकुरा में हाथियों पर यह अत्याचार आम है. इसके अलावा असम, ओडिशा, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु में के कई हिस्सों में भी हाथियों को ऐसे ही प्रताड़ित किया जाता है.’ आपको बता दें, यहां हाथियों और आम लोगों के बीच संघर्ष की खबरें आती रहती हैं. पर्यावरण मंत्रालय की रिपोर्ट की मानें तो 2014 से लेकर अब तक 84 हाथियों को मारा जा चुका है. शिकार हाथी के दांतों के चक्कर में उनको मारने की फिराक में रहते हैं.

हर साल देते हैं बेस्ट वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी अवॉर्ड
सैंक्चुअरी नेचर फाउंडेशन एक एनजीओ है जो पर्यावरण के क्षेत्र में काम करता है. वो हर साल बेस्ट वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर को अवॉर्ड देती है. इस बार इस फोटो के लिए इस फाउनडेशन ने फोटोग्राफर विप्लव हाजरा को सम्मानित किया है.

    'No new videos.'

आखिर क्यों आया भारत के कारण पाकिस्तान दहशत में..???

पाकिस्तान को लगता है कि अमेरिका जल्द ही भारत को उसकी मांग के मुताबिक आर्म्ड ड्रोन्स देने का फैसला कर सकता है।

अमेरिका ने अभी भारत को आर्म्ड ड्रोन देने पर आखिरी फैसला नहीं किया है। लेकिन, पाकिस्तान पहले ही दहशत में आ गया है। पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री ने शुक्रवार को कहा कि अगर अमेरिका भारत को आर्म्ड ड्रोन देता है इनका गलत इस्तेमाल किया जा सकता है और इससे इलाके में टकराव का खतरा बढ़ जाएगा। बता दें कि इस हफ्ते के शुरू में ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन के एक अफसर ने कहा था कि अमेरिका भारत आर्म्ड प्रिडेटर ड्रोन देने पर गंभीरता से विचार कर रहा है।
    'No new videos.'

एक बाप ने की अपने ही बेटे की पत्नी से शादी, आखिर क्यों??

यूपी के गोरखपुर में इसी साल जून में एक ससुर के अपने बेटे की पत्नी से ही गुपचुप तरीके से शादी कर लेने का अनोखा मामला सामने आया था। 55 साल के इस शख्स का बेटा बहराइच में रहता है, जहां उसने भी दूसरी शादी कर ली है। ससुर और बहू की इस शादी का लोगों को शादी के चार दिन बाद पता चला।

-ये मामला गोरखपुर से करीब 30 किलोमीटर दूर चौरी-चौरा तहसील के डीहघाट गांव का है। यहां 13 जून 2017 को दारोगा निषाद ने अपने बड़े बेटे दिलीप की पत्नी पुन्नू (33 साल) से गुपचुप तरीके से मंदिर में शादी कर ली।

– 17 जून को दोनों के इस रिश्ते का खुलासा गांव में हुआ तो दारोगा ने बताया, “शादी करना मजबूरी थी। बहू से बेवफाई कर बेटे ने बहराइच में दूसरी शादी कर ली थी।”

– दारोगा निषाद ने कहा- ”बेटे की इस हरकत से मैं बहुत शर्मिंदा हूं। अब परिवार का उससे कोई संबंध नहीं है।” ”बहू के ऊपर 4 बच्चों की जिम्मेदारी है। मैं चाहता था कि वो अपनी जिंदगी में आगे बढ़े। इसलिए मैंने उसका हाथ थामा।”

केस का करंट स्टेटस
वर्तमान में दारोगा की तबियत खराब रहने के कारण वह 3 बच्चों के साथ घर पर ही रहता है। वहीं, बहू से पत्नी बनी पुन्नू देवी बेटी सुमन को साथ लेकर मजदूरी कर खर्च चलाती है। दारोगा ने बताया, ”बड़े बेटे ने 2001 में पुन्नू से शादी की थी। उसके चार बच्चे हैं। बेटा जॉब के लिए गया था और वहीं दूसरी शादी कर ली। आखिरी बार बेटा 2013 में घर आया था।”गांववाले बोले, ससुर-बहू के संबंधों पर बेटे को था शक
एक ओर जहां दारोगा अपने बेटे को बेवफा बता रहा है, वहीं गांववाले उसे ही दोषी मानते हैं। गांववासियों का कहना है, दारोगा का बेटा रोजी-रोटी के लिए कई शहरों में जाकर काम करता था। इसी बीच दारोगा और उसकी बहू के बीच नजदीकियां बढ़ती चली गईं। एक बार घर लौटे बेटे ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में भी देखा था। बेटा-बहू के बीच इसी बात के कारण आए दिन झगड़ा होता था।”

    'No new videos.'

आरुषि हत्याकांडः HC ने तलवार दंपति को किया बरी, 9 साल चले मामले में कब क्या हुआ?

आरुषि और हेमराज की हत्या के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए तलवार दंपति को बरी कर दिया है। इस मर्डर मिस्ट्री में सीबीआई की विशेष अदालत ने आरुषि के मां-बाप को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।
राजेश तलवार और नुपुर तलवार हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं। अदालत के फैसले के बाद तलवार दंपति जल्द रिहा होंगे। दंपति ने सीबीआई अदालत के फैसले के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील की थी, जिस पर हाईकोर्ट ने आज अपना फैसला सुनाते हुए दंपति को बरी करने का आदेश दे दिया।
तलवार दंपति की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में सितंबर 2016 से सुनवाई चल रही थी। 11 जनवरी 2017 को इस इस मामले में सुनवाई पूरी हुई। हाईकोर्ट ने केस में 12 अक्तूबर 2017 को फैसला सुनाने की तिथि निर्धारित की थी। आज हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए दंपति को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया।
हाईकोर्ट ने टिप्पणी की कि जांच के दौरान सीबीआई तलवार दंपति के खिलाफ ऐसे सबूत पेश नहीं कर पाई जिसमें उन्हें सीधे दोषी माना जा सके। कोर्ट ने ये भी कहा ऐसे मामलों में तो सुप्रीम कोर्ट भी बिना पर्याप्त तथ्यों और सबूतों के किसी को इतनी कठोर सजा नहीं सुनाता। जानिए हत्याकांड से लेकर आज हाईकोर्ट के फैसले तक की पूरी कहानी।

16 मई 2008 को आरुषि की खून से लथपथ डेड बॉडी मिली

16 मई 2008
आरुषि तलवार का खून से लथपथ शव नोएडा में उसके घर के बैडरूम में मिला। उसके गले पर गहरा जख्म था।

17 मई 2008
17 मई की सुबह घर के नौकर हेमराज का भी खून से लथपथ शव आरूषि के घर की छत पर पड़ा हुआ मिला।

18 मई 2008
18 मई को पुलिस ने अपनी प्राथमिक जांच में कहा कि दोनो की हत्या सर्जरी के लिए प्रयुक्त उपकरण के जरिए की गई है।

19 मई 2008
राजेश तलवार के पूर्व नेपाली नौकर विष्णु शर्मा को संदिग्धों में शामिल किया गया।

21 मई 2008
दिल्ली पुलिस ने इस मामले में हत्या के एंगल से जांच शुरू की।

22 मई 2008
आरुषि हत्याकांड की ऑनर किलिंग के एंगल से जांच शुरू होने पर परिवार संदेह के घेरे में आ गया। मामले में पुलिस ने आरुषि के दोस्त से पूछताछ की जिससे आरुषि ने हत्या के दिन से 45 दिन पहले तक कुल 688 बार फोन पर बात की थी।

23 मई 2008
आरुषि के पिता राजेश तलवार को आरुषि-हेमराज हत्याकांड के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया।

    'No new videos.'