ये जगह है भारत के सात आश्चर्य

श्रवणबेलगोला (Shravanabelagola) भारत के कर्नाटक राज्य के हासन ज़िले में स्थित एक नगर है। यह एक प्रसिद्ध जैन तीर्थ है। कन्नड़ में ‘वेल’ का अर्थ होता है श्वेत, ‘गोल’ का अर्थ होता है सरोवर। शहर के मध्य में एक सुंदर श्वेत सरोवर के कारण यहां का नाम बेलगोला और फ़िर श्रवणबेलगोला पड़ा .

श्रवणबेलगोला दो पहाड़ियों – विंध्यगिरि और चंद्रगिरि – के मध्य स्थित है। विंध्यगिरि पर 7 तथा चंद्रगिरि पर 14 जैन मंदिर हैं। एक श्री बाहुबली स्वामी का मंदिर है। यह banglore से १५८ कि॰मी॰ दूर स्थित है।मौर्य चन्द्र गुप्त  के विस्तृत राज्य की जानकारी तमिल ग्रंथ अहनानूर तथा मुरनानूर से प्राप्त होती है। जैन ग्रंथों के अनुसार अपने जीवन के अंतिम समय में चंद्रगुप्त मौर्य ने जैन परंपरा के अनुसार श्रवणबेलगोला में अपने शरीर का त्याग कर दिया।

    'No new videos.'

मध्य प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, अब निजी वाहनों को नहीं देना होगा टोल टैक्स!

मध्य प्रदेश सरकार  (MP Government) ने टोल टैक्स (Toll Tax Free) को लेकर बड़ा फैसला लिया है।  सरकार ने निजी वाहनमालिकों को बड़ी राहत दी है। इसके तहत अब नई सड़कों पर निजी वाहनों से टोल टैक्स (Private Vehicles is Toll Tax Free ) नहींवसूला जाएगा। इसके लिए मध्य प्रदेश सरकार ने टोल टैक्स संबंधी नीति में बदलाव किए है।आगामी चुनाव से पहले यह सरकार काबड़ा फैसला माना जा रहा है। दरअसल, मप्र प्रदेश सरकार ने निजी वाहन मालिकों को बड़ी राहत देते हुए टोल टैक्स संबंधी नीति (Toll Tax Policy) में नए प्रावधान किए है, जिसके तहत अब छोटे वाहनों से टोल टैक्स नहीं लिया जाएगा। खास बात ये है कि यह सुविधाराज्य सड़क विकास निगम द्वारा बिल्ड आपरेट एंड ट्रांसफर की बनाई जाने वाली नई सड़कों पर सुविधा मिलेगी।

नई नीति के तहत तय किया गया है कि बिल्ड आपरेट एंड ट्रांसफर BOT (एजेंसी सड़क बनाकर टोल लेती है और निश्चित अवधि केबाद मप्र सरकार को देती है) की सड़क हो या फिर एन्यूटी पद्धति (एजेंसी द्वारा सड़क निर्माण करने के बाद उसे समान किस्तों में लागतराशि दी जाती है) पर बनने वाली सड़क हो, दोनों शर्तों में निजी वाहनों से टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा।

    'No new videos.'

नए केंद्रीय बजट में मध्यमवर्गीय फिर मायूस ,खोदा पहाड़ निकली चुहिया

केन्द्रीय बजट 2022*एक नज़र में……..
१) आयकर की स्लेब/ दर पूर्णतः अपरिवर्तित , नया कोई कर भार नहीं ।

२) आयकर विवरणी कीं ग़लतियों को दो साल तक सुधार कर विवादों से बचा जा सकता है ।
३) क्रिप्टो करेंसी की आय पर ३०% टैक्स, १ प्रतिशत टीडीएस भी
४) डिजीटल करेंसी शुरू होगी, ३० प्रतिशत कर होगा आय पर
५)दिव्यांग के माता पिता को कर में छुट के प्रावधान
६)सहकारी समितियों पर कर अभिलाभ में राहत
७) छापे में प्राप्त नक़द राशि पुरी तरह से ज़ब्त होगी ।
७) स्टार्टअप को प्रोत्साहन
८) कर्मचारियों को पैशन पर टैक्स में राहत
९) समान तय क़ानूनी पांईट पर विभागीय सेकंड अपील न करने की बात स्वीकार ।
१०) पूँजी लाभ अभिभार में कुछ राहत ।
११) आगामी २५ वर्षों की दुरदर्शिता से जुड़ा बजट
१२)चमड़ा,कपड़ा, खेती सामान, हीरे के गहने , जुते चप्पल, इलेक्ट्रॉनिक सामान सस्ते, विदेशी छाते मंहगे ।
१३) विकास की कई योजनाओं का घ्यान बजट में
१४) रोज़गार उन्मुख्त बजट
१५) ६० लाख नई नौकरी का घ्यान
१६) निजी निवेश को बढ़ावा
१७) विकास की दुरदृष्टी का बजट, २५ हज़ार कि मी के हाय वे बनेंगे, १० गतिशक्ति टर्मिनल,
६० कि मी के ८ रोप वे, ३ वर्ष में ४०० वन्दे भारत ट्रेन
१८) १३० लाख का अतिरिक्त क़र्ज़ एम एस ई सेक्टर को
१९) राष्ट्रीय विकास को समर्पित बजट, लोभ लुभावन व रेवड़ी बाटने वाला बजट नहीं
२०) अधोसंरचना, पूँजी विकास का बजट
२१) ७५० नई ई लैब्स
२२) शिक्षा को बढ़ावा, डिजीटल यूनिवर्सिटी, १-१२ कक्षा तक क्षेत्रीय भाषा में पढ़ाई
….,,,,.. विकासशील बजट… स्वागत योग्य
🙏🙏

    'No new videos.'

सत्यन गुरुजी को मध्य प्रदेश शासन का महा कवि प्रदीप सम्मान

इन्दौर। मध्यप्रदेश सरकार के संस्कृति मंत्रालय व साहित्य अकादमी द्वारा दिया जाने वाला मंचीय कविता का सर्वोच्च सम्मान ‘महाकवि प्रदीप सम्मान’ हिन्दी कवि सम्मेलन के शिखर कलश सत्यनारायण सत्तन को प्रदान करने की घोषणा की गई है। यह अलंकरण 25 जनवरी की संध्या 6 बजे रविन्द्र भवन, भोपाल में प्रदान किया जाएगा।

श्री सत्तन लगभग 6 दशकों से भी अधिक समय से हिन्दी कवि सम्मेलन के मंचों पर कविता पढ़ रहे हैं। यह सम्मान हिन्दी कविता का सम्मान है। मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा मंत्रालय व चयन समिति का आभार व्यक्त किया गया एवं गुरुजी को बधाई दी गई।

    'No new videos.'

टाटा ने हाइड्रोजन से चलने वाली बस बनाई

टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल ने मिलकर हाइड्रोजन से चलने वाली बस बनाई है। इस बस को ट्रायल के तौर पर चलाया जाएगा। यह हाइड्रोजन से चलने वाली भारत की पहली बस है। इंडियन ऑयल का रिसर्च एंड डिवेलपमेंट डिपार्टमेंट अपनी 57वां फाउंडेशन डे मना रहा है। टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल लंबे समय तक नए और स्वच्छ गतिशीलता समाधान की कुशलता और स्थायित्व को बेहतर ढंग से समझने के लिए हाइड्रोजन ईंधन सेल बस का लंबे समय तक परीक्षण करेंगे। ऐसी परियोजनाएं भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ पहल पर रिफलेक्ट करती हैं। टाटा मोर्टस पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए क्लीन फ्यूल से चलने वाली बस लाकर इस मामले में आगे आ गया है।हाइड्रोजन फ्यूल सेल टेक्नॉलोजी पारंपरिक इंजन से लगभग तीन गुना ज्यादा बेहतर है। हाइड्रोजन फ्यूल सेल एक बैटरी की तरह काम करता है लेकिन इसे बैटरी की तरह चार्ज नहीं करना पड़ता है। फ्यूल सेल तब तक बिजली और पानी जेनरेट करता है जब तक उसे हाइड्रोजन और ऑक्सीजन सप्लाई की जाती है।

    'No new videos.'