Tag Archives: annu malik

जाने प्रिंसेस डायना एक्सीडेंट की एक पहेली ..!!

31 अगस्त 1997. ये वही दिन था जब पूरी दुनिया प्रिंसेस डायना की मौत की खबर सुनकर सन्न रह गई थी. 36 साल की प्रिंसेस डायना की एक कार दुर्घटना में मौत हो गई. कार एक्सीडेंट इतना जबरदस्त था कि हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई. यह एक्सीडेंट कितना खतरनाक रहा होगा, इस बात का अंदाजा हादसे के बाद कार को देखकर लगाया जा सकता था. एक्सीडेंट में कार पूरी तरह से नष्ट हो गई थी. पीछे की सीट पर खून से सनी हुई थी.

21 साल पहले जिस वक्त ये हादसा हुआ, उस वक्त ये पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. हाल ही में Behind the story नाम के एक फेसबुक पेज ने इस घटना का वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि प्रिंसेस डायना की कार का एक्सीडेंट कैसे हुआ. वीडियो में ये भी बताया गया है कि एक्सीडेंट के बाद क्या हुआ और कैसे प्रिंसेस डायना की मौत हुई. इस वीडियो में फ्रांस के उस बचावकर्मी का इंटरव्यू भी है जिसने एक्सीडेंट के बाद मौके पर पहुंच कर डायना को बचाने की पूरी कोशिश की.

हादसे की पूरी कहानी

वीडियो के मुताबिक कार तेज रफ्तार से एक टनल के अंदर घुसी. उसने पहले एक कार को ओवरटेक किया फिर अचानक फुटपाथ पर चढ़ गई और एक दीवार से टकराकर पूरी तरह घूम गई. इसके बाद जब कार रुकी तो सब खत्म हो चुका था.

फ्रांस का बचावकर्मी ज़ावियर ग्रीमलन वो पहला शखस् था जो एक्सीडेंट के बाद मौके पर पहुंचा. ये एक्सीडेंट पॉन्ट द लामा टनल में हुआ था. ये टनल उस जगह के बहुत करीब थी जहां बचावकर्मी ज़ावियर ग्रीमलन ड्यूटी ऑफिसर नियुक्त था. पहले ग्रीमलन को इस एक्सीडेंट के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता था, और न ही ये पता था कि कार मौजूद लोग कौन-कौन है. ऐसे में उन्होंने इस एक्सीडेंट  को किसी भी आम एक्सीडेंट की तरह देखा और फिर उसी तरह काम किया.

एक्सीडेंट के बाद भी जिंदा थी डायना

ग्रीमलन ने प्रिंसेस डायना से कहा कि वो वहां उनकी मदद करने के लिए आया है. ग्रीमलन ने इसके बाद उन्हें ऑक्सीजन दिया और कार से बाहर निकाला. लेकिन उसके तुरंत बाद प्रिंसेस ने सांस लेना बंद कर दिया. ग्रीमलन को अहसास हुआ कि उन्हें हार्ट अटैक हुआ है. इसके तुरंत बाह उन्होंने प्रिंसेस की छाती को पंप करना शुरू किया. थोड़ी देर बाद वो दोबारा सांस लेने लगी. उस वक्त सभी को लगा कि प्रिंसेस डायना अब बच जाएंगी. इसके बाद उन्हें एमबुलेंस में रखा गया. इसी दौरान एक डॉक्टर ने उनको पहचान लिया और तभी ग्रीमलन को समझ में आया कि वो महिला और कोई नहीं बल्कि प्रिंसेस डायना थी. हालांकि इसके बाद 31 अगस्त को खबर आई की डायना की अस्पताल में मौत हो घई है. डॉक्टरों ने बताया कि उनको काफी अंदरूनी चोटें आई थी जिसकी वजह से उनकी मौत हुई.

उस समय उनकी मौत का सबसे बड़ा झटका ग्रीमलन को लगा क्योंकि उन्हें लगा था कि प्रिंसेस डायना बच जाएंगी. ग्रीमलन इस हादसे को कभी नहीं भूला सकें और न ही कोई और भूला सका.

    'No new videos.'

कॉमेडी के शंहशाह कादर खान ने दुनिया से अलविदा कहा….

मशहूर अभिनेता कादर खान का कनाडा के एक अस्पताल में निधन हो गया। पीटीआई के अनुसार, कादर खान के निधन की पुष्टि उनके बेटे सरफराज ने की है।

खान के बेटे सरफराज ने ‘पीटीआई से कहा, ‘मेरे पिता हमें छोड़कर चले गए। लंबी बीमारी के बाद 31 दिसम्बर शाम छह बजे (कनाडाई समय) उनका निधन हो गया। वह दोपहर को कोमा में चले गए थे। वह पिछले 16-17 हफ्तों से अस्पताल में भर्ती थे।’ उन्होंने कहा, ‘उनका अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा। हमारा सारा परिवार यहीं हैं और हम यहीं रहते हैं इसलिए हम ऐसा कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ”हम दुआओं और प्रार्थना के लिए सभी का शुक्रिया अदा करते हैं।

आपको बता दें कि बॉलीवुड में अपने बेहतरीन अदाकारी और शानदार डायलॉग से लोहा मनवाने वाले मशहूर एक्टर कादर खान की हालत पिछले कुछ दिनों से नाजुक बनी हुई थी। खराब स्वास्थ्य के चलते उन्हें अस्पताल में बाइपेप(BiPAP) वेंटीलेटर पर रखा गया था। कादर खान 81 साल की उम्र में प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर(पीएसपी) के शिकार हो गए थे जिसके कारण उनके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था।

कादर खान की फिल्मों की बात की जाए तो वो उन अभिनेताओं में से हैं जिन पर हर रोल जचता था। फिर वह चाहे कॉमेडी हो या फिर खलनायक का किरदार हो। उन्होने लगभग 300 फिल्मों मे काम किया। आख़िरी बार उन्होंने दिमाग का दही फिल्म की थी।

अमिताभ बच्चन ने मांगी थी सलामती की दुआ

इससे पहले कादर खान की खराब तबीयत पर बिग बी ने उनकी सलामती के लिए दुआ मांगी थी। बिग बी ने ट्वीट कर लिखा था कि कादर खान, एक्टर और टैलेंट से भरपू

    'No new videos.'

इंडिया में #MeToo कैम्पेन की शुरुआत तनुश्री दत्ता ने नहीं बल्कि 90 के दशक में अलीशा चिनॉय ने ही की ..!

बॉलीवुड डेस्क. सिंगर अलीशा चिनॉय भी अनु मलिक की हरकतों की शिकार रहीं हैं। अलीशा ने मीटू कैम्पेन के तहत अनु मलिक पर लगाए गए सभी आरोपों को सही बताया है और कहा है कि वे पीड़ितों के साथ हैं। दरअसल इंडिया में MeToo कैम्पेन की शुरुआत तनुश्री दत्ता ने नहीं बल्कि 90 के दशक में अलीशा चिनॉय ने ही की थी।

यह है पूरा वाकया

  1. हालिया बयान में कहा हैवान

    अलीशा ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा है- उन लड़कियों ने जो भी अनु मलिक के लिए कहा है वह एक-एक शब्द सही है। मैं उनके साथ हूं। इस हैवान ने तो अपनों को भी नहीं बख्शा। जिस श्वेता पंडित के साथ उसने ये हरकतें की वह म्यूजिक डायरेक्टर जतिन-ललित की भतीजी है। मलिक की दो बेटियां हैं और इतने सालों में वह अपनी बेटियों की उम्र की लड़कियों पर बुरी नजर रखता था। कईयों को तो अपने घर में ही शिकार बनाया।

  2. अलीशा ने मांगा था हर्जाना

    1995 के दौरान अलीशा चिनॉय का एलबम मेड इन इंडिया रिलीज हुआ था। तब अलीशा ने अनु पर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए थे। अनु पर एक केस भी दर्ज किया गया था, जिसके एवज में अलीशा ने उनसे 26.60 लाख रुपयों की मांग हर्जाने के तौर पर की थी। इसके बाद अनु ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को झूठा बताते हुए उल्टा अलीशा पर ही 2 करोड़ रुपयों के साथ मानहानि का केस कर दिया था।

  3. साथ काम न करने की खाई थी कसम

    अलीशा ने इस मामले को खत्म करने के लिए समझौते का रास्ता चुना लेकिन जिंदगी भर अनु मलिक के साथ काम न करने की कसम खाई थी। हालांकि कुछ ही साल बाद 2002 में दोनों ने शाहिद कपूर की फिल्म इश्क-विश्क के लिए साथ काम करके सभी को चौंका दिया था। अलीशा को आखिरी बार 2013 में आई फिल्म कृष-3 में सुना गया था।

    'No new videos.'