चरणप्रीत बनी चंडी: लुटेरों के पीछे तलवार लेकर दौड़ी, पढ़िए पूरी कहानी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल. इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही एक छात्रा के बुलंद हौसलों के कारण उसके घर में डकैती डालने घुसे बदमाशों को उल्टे पांव भागना पड़ा। अपनी जान की परवाह न करते हुए रात तीन बजे छात्रा और उसके पिता बदमाशों के पीछे तलवार लेकर दौड़े। डकैतों को घबराकर दीवार फांदकर भागना पड़ा।
घटना शाहपुरा क्षेत्र में अंसल प्रधान कॉलोनी के बंगला नंबर 58 की है। यहां रहने वाले हरविंदर सिंह धीर सिविल कांट्रैक्टर हैं। बुधवार को उनकी बड़ी बेटी चरणप्रीत कौर का बीई फोर्थ सेमेस्टर का एग्जाम था। मंगलवार रात वह पहली मंजिल पर बने कमरे में पढ़ाई कर रही थी। पत्नी प्रभजोत और छोटी बेटी अरनीत कौर के साथ हरविंदर दूसरे कमरे में थे। रात करीब तीन बजे चरणप्रीत को घर में कुछ खटपट होने की आवाज सुनाई दी। वह अपने कमरे में रखी तलवार लेकर बाहर निकली, तभी उसे किसी अनजान व्यक्ति की आवाज सुनाई दी- ‘दरवाजा खुल गया है, अंदर आ जाओ।’

यह सुनते ही वह समझ गई कि घर में चोर घुस आए हैं। उसने आवाज लगाई- ‘पापा तलवार लेकर आ जाओ, घर में चोर घुस आए हैं।’ पिता और बेटी जैसे ही तलवार लेकर बाहर निकले, डकैत दीवार फांदकर भागे। दोनों ने उनका पीछा किया, लेकिन अंधेरे की वजह से वे पकड़ में नहीं आए। हरविंदर ने बताया कि पांच-छह अज्ञात डकैतों ने उनके घर के दो दरवाजों का कुंदा तोड़कर डाइनिंग रूम में रखी अलमारी का दरवाजा भी खोल लिया था। लेकिन समय रहते चरणप्रीत ने साहस दिखाया, जिससे डकैतों के हौसले पस्त हो गए।

कवर्ड कैंपस, चार गार्ड… फिर भी वारदात
अंसल प्रधान कॉलोनी एक कवर्ड कैंपस है। हरविंदर ने बताया कि कॉलोनी में 150 मकान हैं। कॉलोनी की सुरक्षा और मेंटेनेंस के लिए उन्हें 1500 रुपए महीना अदा करना पड़ता है। इसके बाद भी यहां सुरक्षा के माकूल इंतजाम नहीं हैं। कॉलोनी में पांच सुरक्षा गार्ड हैं, लेकिन उन्हें बदमाश नजर नहीं आए। इससे पहले भी यहां चोरी की कुछ घटनाएं हो चुकी हैं।

पापा ने सिखाया है, कभी डरना नहीं
मैं घर में तलवार और बाहर कृपाण साथ रखती हूं। पापा ने सिखाया है कि परेशानी कितनी भी बड़ी हो, कभी डरना नहीं। रात में अगर कोई बदमाश हाथ लग जाता तो मैं उसे काट देती।
– चरणप्रीत कौर

लोहे की रॉड और पत्थर लेकर आए थे डकैत
चरणप्रीत की मां प्रभजोत के मुताबिक डकैतों के हाथ में लोहे की रॉड और पत्थर थे। बदमाशों ने पहले बंगला नंबर 140 के गेट का ताला तोड़ा। कामयाब नहीं हुए तो हमारे घर आ गए। कॉलोनी की एक महिला ने उन्हें देखा भी है। महिला ने बताया था कि सभी टोपी लगाए थे और काले रंग के कपड़े पहने हुए थे। पुलिस ने मौके से लोहे की रॉड और कुछ पत्थर जब्त किए हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...