ऑटोमेशन प्रोजेक्ट शुरू करेगी डीएवीवी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी में सारी प्रक्रिया ऑनलाइन किए जाने को लेकर 2006 में शुरू किए गए ऑटोमेशन प्रोजेक्ट का विवाद सुलझने के बाद उसे फिर एक बार शुरू किया जाएगा। इस बार नई कंपनी को ठेका दिया जाएगा। साथ ही समय-सीमा छह माह की तय की जाएगी और तय समय में काम नहीं हुआ तो अब पैनल्टी का भी प्रावधान रहेगा।
फिलहाल प्रबंधन ने तय किया है कि महीनेभर बाद इस प्रोजेक्ट को नए सिरे आगे बढ़ाया जाएगा। कोशिश की जाएगी जुलाई से आरंभ होने वाले नए सत्र में ज्यादातर प्रक्रिया ऑनलाइन हो जाएं। छात्रों को डिग्री, मार्कशीट के लिए आवेदन सहित अन्य प्रक्रिया ऑनलाइन होने का इंतजार 2006 से है। तब तत्कालीन प्रभारी कुलपति डॉ. राजकमल ने विप्रो कंपनी के साथ यूनिवर्सिटी के ऑटोमेशन प्रोजेक्ट को मंजूर किया था। तब 48 लाख रुपए में यह प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। यूनिवर्सिटी ने विप्रो को 24 लाख रुपए का भुगतान भी कर दिया था। लेकिन बाद में प्रोजेक्ट पर काम ही आगे नहीं बढ़ पाया। लगभग दो साल प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया। फिर डीएवीवी प्रबंधन ने विप्रो से कहा कि या तो वह पैसा लौटा दे या फिर प्रोजेक्ट पूरा करे। जबकि विप्रो ने बची हुई राशि मांगी थी। यह विवाद कोर्ट में भी गया। फिलहाल पूरे मामले पर स्थिति स्पष्ट नहीं है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.