लाखों की जॉब छोड़कर युवा इनसे सीख रहे हैं योगा, बनना चाहते हैं योगगुरु

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर. मल्टीनेशनल कम्पनी के एयरकंडीशंड ऑफिस का सीटिंग जॉब और 10 लाख का पैकेज छोड़ जिया मेरवानी ने योगा ट्रेनिंग को प्रोफेशन बनाया। पैकेज इस फील्ड में भी उतना ही है और इन्सेंटिव है अच्छी हेल्थ, फॉरेन टूर्स और सोसायटी के लिए कुछ कर पाने का सेटिस्फैक्शन। इन्हीं की तरह पद्मिनी राठौर भी उज्जैन के एक कॉलेज में प्रोफेसर थीं। अपनी हेल्थ प्रॉब्लम्स के ट्रीटमेंट के लिए योग शुरू किया और कुछ महीनों बाद जॉब छोड़ योगा इंस्ट्रक्टर बन गईं। ऐसे और भी युवा हैं जो लाखों के पैकेज छोड़ योग में कॅरियर बना रहे हैं। हेल्थ, ग्लोबल एक्सपोज़र और सोशल वेलफेयर तो वजहें हैं ही, इसमें पैकेज भी अच्छे मिल रहे हैं। शहर में रहकर ही युवा तकरीबन 10 लाख रुपए का एनुअल पैकेज पा रहे हैं। योगगुरु पंडित राधेश्याम से कई देश के युवा जुड़कर योगा सीख रहे हैं। योग भी दे रहा दुनिया घूमने का मौक़ा
पिछले दिनों ब्राज़ील में 20 दिनों का टीचर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम करके लौटे योगगुरु पंडित राधेश्याम बताते हैं कि पूरी दुनिया योग की शक्ति और जीपन पर इसका असर समझ चुकी है। दुनिया के हर देश में योगा किया जा रहा है। ब्राज़ील में यह मेरा सेकंड टूर था। युवाओं के इस फील्ड में आने के कई कारण हैं। पहला हेल्थ अवेयरनेस, दूसरा अच्छे पैकेज और अब वे ये भी समझ गए हैं कि सिर्फ आईटी या एमएनसी के जॉब ही दुनिया घूमने का मौक़ा नहीं दे रहे।
हर स्कूल में है योगा इंस्ट्रक्टर की वेकेंसी
पद्मिनी बताती हैं कि योगा में स्कोप पहले से काफी बढ़ा है। हेल्थ इश्यूज बढ़े तो लोग योग की तरफ आए। यही वजह है कि हर स्कूल में योगा इंस्ट्रक्टर की वेकेंसी है। कई यंग योगा ट्रेनर्स फ्री लांसिंग भी कर रहे हैं। प्रोजेक्ट बेसिस पर काम कर रहे हैं।
योगा में कॅरियर अपॉर्च्युनिटीज़
1. रिसर्च ऑफिसर – योगा एंड नेचुरोपैथी
2. योगा एरोबिक इंस्ट्रक्टर
3. योगा थेरेपिस्ट
4. एजुकेशनल इंस्टिट्यूट में योगा टीचर
5. हेल्थ क्लब में योगा इंस्ट्रक्टर
6. योगा ब्लॉगर एंड कॉलमनिस्ट फॉर मैगज़ींस एंड न्यूज़पेपर्स

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...