एफआईआर के डर से डायरेक्टर ने ढूंढ निकाली फाइल, अब डीएवीवी को भेजेंगे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर। देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के आईआईपीएस से एमबीए की पढ़ाई पूरी कर चुके एक छात्र नेता रोहिन राय की एडमिशन की फाइल गायब होने पर गुरुवार को नालंदा परिसर में मचे बवाल और शुक्रवार को कांग्रेस द्वारा एफआईआर की तैयारी के बीच शाम को फाइल ही मिल गई। प्रबंधन ने विवाद और एफआईआर के डर से फाइल खोज निकाली। अब उस फाइल के आधार पर यूनिवर्सिटी इस बात की जांच करेगी कि क्या छात्र नेता ने फर्जी तरीके से स्कालर शीप ली थी।

दरअसल गुरुवार दोपहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लगभग दो घंटे प्रभारी कुलपति डॉ. अनिल कुमार और कुलसचिव आर.डी. मूसलगांवकर को इस मामले में घेरे रखा था। यहां पहुंचे कांग्रेस पदाधिकारी देवेंद्र यादव और रोहित धनोते ने डायरेक्टर के खिलाफ दस्तावेज गायब करवाने के मामले में एफआईआर दर्ज करवाने की बात कही थी। शुक्रवार को बाकायदा उन्होंने एफआईआर की तैयारी कर ली थी।

जानिए क्यों घेरे में हैं डायरेक्टर और छात्र नेता
दरअसल तेजप्रकाश राणे ने आईआईपीएस में पढ़ाई कर चुके एबीवीपी के छात्र नेता रोहिन राय के खिलाफ गलत आय प्रमाण-पत्र लगातार स्कॉलरशीप हासिल करने के आरोप मढ़े थे। उसी की जांच की मांग करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे थे। उनकी शिकायत थी कि जांच के डर से डायरेक्टर ने दस्तावेज गायब करवा दिए हैं। क्योंकि उस दौरान हुए बाकी सभी एडमिशन के दस्तावेज हैं। सिर्फ इसी एक एडमिशन के कागज क्यों गायब हुए? इस मामला में अब डायरेक्टर का कहना है कि फाइल मिल गई है, इससे ज्यादा मैं और कुछ नहीं कह सकता।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...