22 वर्षीय इस युवा ने बनाई खुद की कंपनी, कमाए 1 करोड़ रु.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंदौर। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद ज़्यादातर युवा किसी बड़ी कंपनी में अच्छे पैकेज की नौकरी तलाशते हैं, लेकिन एक युवा ने कुछ ऐसा किया कि वह इंजीनियरिंग करने वाले लाखों युवाओं के लिए एक मिसाल बनकर उभरा है। हम बात कर रहे हैं 22 वर्षीय हर्ष चौहान की। जिन्होंने बीई करने के तुरंत बाद रोबोशास्त्र नामक कंपनी बनाई। ये अपनी तरह की एक अनूठी कंपनी है जो मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के स्कूल और काॅलेज के विद्यार्थियों को रोबोट्स की तकनीक सिखाकर उन्हें रोबोट बनाने की ट्रेनिंग देती है। इंदौर के चमेली देवी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में रोबोटिक्स में युवाओं को ट्रैन करने आए हर्ष ने बताया कि हाल ही में उनकी कंपनी ने बिना पायलट के उड़ने वाला एक ड्रोन प्लेन भी बनाया है। अगले कुछ महीनों में वे यह ड्रोन बाज़ार में उतारने जा रहे हैं। हर्ष ने सात महीने में एक करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई की है। पढ़ाई के दौरान ही तय कर लिया था : दुर्ग के इंजीनियरिंग कॉलेज से बीई करने वाले हर्ष कहते हैं कि कंपनी बनाने का आइडिया उन्हें रोबोटिक्स जैसी एक इवेंट के दौरान आया था। बाद में उन्होंने अपने सीनियर्स और कुछ दोस्तों से इस बारे में बात की और पढ़ाई भी करते रहे। पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्हें एक बड़ी कंपनी से अच्छे पैकेज का ऑफर भी मिला था, लेकिन उसे ठुकराकर उन्होंने जुलाई 2014 में रोबोशास्त्र की शुरुआत की। हर्ष के मुताबिक पिछले सात महीनों में वे 10 हज़ार से भी ज़्यादा स्टूडेंट्स को रोबोट बनाने की तकनीक सिखा चुके हैं। उनका सपना है कि आने वाले समय में भारत रोबोटिक्स में भी वैसी महाशक्ति बनकर उभरे जैसा वह आईटी में उभरा है। रोबोशास्त्र की शुरुआत के समय हर्ष के साथी सिद्धार्थ विश्वकर्मा लगफाॅर्ज सीमेंट में और सत्येन्द्र साव और रवि शर्मा टीसीएस जैसी मल्टीनेशनल कंपनीज में बडे़ पैकेज पर काम कर रहे थे, लेकिन उन्हें हर्ष के इस आइडिया पर इतना यकीन था कि ये लोग अपनी जमी जमाई नौकरी छोड़कर रोबोशास्त्र के साथ जुड़ गए। पिछले 8 महीने में रोबोशास्त्र की उपलब्धि से चारों दोस्त खुश तो हैं लेकिन संतुष्ट नहीं हैं। वे कहते हैं कि हम भारत की सबसे बड़ी पांच रोबोटिक्स कंपनीज मे शामिल होना चाह्ते हैं।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...