इंदौर के युवकों के बनाए एप, डिवाइस विदेशों में भी हो रहा है चर्चित

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दौर के आईटी एक्सपर्ट द्वारा बनाए गए हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और मोबाइल एप्लीकेशन आस्ट्रेलिया, अमेरिका, केन्या और इटली में भी चर्चित हो रहे हैं। आम लोगों के साथ-साथ ये इनोवेशन पुलिस, आर्मी, नेवी, एयरफोर्स के लिए भी उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं। भास्कर पेश कर रहा है ऐसी पांच उपलब्धियां और एक्सपर्ट जिनके कारण हमारे इंदौर का नाम देश-विदेश में ख्याति पा रहा है।
आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के लिए लॉन्ग रेंज अकास्टिक डिवाइस कंट्रोलिंग एंड्रॉइड एप
मुंबई में हुए आतंकी हमलों के बाद इंदौर की डिजिटल सॉल्यूशन कंपनी द्वारा लॉन्ग रेंज अकास्टिक डिवाइस कंट्रोलिंग एंड्रॉइड एप बनाया गया। कंपनी सीईओ समीर शर्मा ने बताया यह उपकरण एक बड़ा स्पीकर नुमा है। यह आवाज फैलाता नहीं, बल्कि सीधे टारगेट पर साउंड वेव्स भेजता है। क्षमता तीन किमी तक होती है।
इसमें जो भी साउंड वेव्स भेजी जाती हैं वह सीधे दुश्मन और घुसपैठिए के कान तक पहुंचकर उसे इस प्रकार विचलित कर देती हैं कि उसे भागना पड़ता है। इसमें 40 भाषाओं में जो भी संदेश दिया जाना है उसे प्रसारित कर सकते हैं। अमेरिका, कनाडा और इंडियन आर्मी ने इस उपकरण को अपने संसाधन में शामिल कर लिया है।
अमेरिका में नौ साल से सफल इमरजेंसी अलर्ट नोटिफिकेशन सिस्टम
इंदौर की सिसपंडित्स कंपनी द्वारा बनाया गया इमरजेंसी नोटिफिकेशन सिस्टम अमेरिका के ईस्ट कोस्ट के पेंसिलवेनिया, पेस्टबर्ग शहरों में 2006 से संचालित हो रहा है। इस सिस्टम से शासन और निजी कंपनियां कोई भी इमरजेंसी संदेश लोगों तक पहुंचा सकती है। सर्वर में जितने लोगों के नाम फीड हैं, उन्हें पहले एसएमएस, फिर कॉल, फिर पेजर से मैसेज भेजा जाता है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.