कॉलेज को ए ग्रेड में लाइए और 15 लाख रुपए का इनाम पाइए

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

naac

उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कॉलेजों को आधुनिक बनाने की दिशा में न केवल सुविधाएं जुटाने के प्रयास तेज किए हैं बल्कि प्राचार्यों और पूरे स्टाफ को इसके लिए प्रेरित करने की दिशा में भी महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। शासन ने सरकारी कॉलेजों को नैक से ए ग्रेड मिलने की स्थिति में 15 लाख रुपए इनाम और प्रशंसा पत्र देने का निर्णय लिया है।
यह राशि हर साल दी जाएगी। बी ग्रेड लाने वाले कॉलेजों को भी 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। फिलहाल इंदौर में जीएसीसी (शासकीय अटल बिहारी वाजपेयी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय) के पास ही ए ग्रेड है। बाकी किसी सरकारी कॉलेज के पास ए ग्रेड नहीं हैं। इसलिए जीएसीसी को नए सत्र में यह राशि मिलेगी। वहीं बी ग्रेड न्यू जीडीसी और ओल्ड जीडीसी को 10-10 लाख रुपए सरकार देगी।
छात्रों और स्टाफ को ये फायदा?
>नैक से ए ग्रेड का मुख्य आधार रिसर्च होता है। इससे रिसर्च को बढ़ावा मिलेगा। पीएचडी कर रहे छात्रों को सबसे ज्यादा फायदा।
>स्टाफ को प्रोत्साहन मिलेगा और वह नैक के निरीक्षण की तैयारी बेहतर तरीके से कर पाएंगे।
>जो राशि प्रोत्साहन के तौर पर मिलेगी उसे भी रिसर्च औैर कॉलेज में लैब आदि पर खर्च होगी।
>नैक से ए ग्रेड मिलने पर यूजीसी से भी करोड़ों रुपए के प्रोजेक्ट मिलते हैं।

इस साल यहां होंगे नैक के दौरे
>गवर्नमेंट होलकर साइंस कॉलेज।
>गवर्नमेंट निर्भय सिंह पटेल कॉलेज।
>गवर्नमेंट लॉ कॉलेज।
हौसला बढ़ाने के लिए पहल
शासन ने कॉलेजों में बेहतर सुविधाएं जुटाने और नैक की टीम के दौरे के प्रति उत्साह बढ़ाने के लिए यह पहल की है। ए ग्रेड कॉलेजों को 15 लाख रुपए दिए जाएंगे। निश्चित ही इससे प्राचार्यों में भी कॉलेजों को संवारने के प्रति उत्साह बढ़ेगा।” – डॉ. नरेंद्र धाकड़, अतिरिक्त संचालक, उच्च शिक्षा

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.