अगले महीने से मुफ्त डाउनलोड कीजिए NCERT की किताबें

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

poster_frame_1432951614

जून के दूसरे हफ्ते से कक्षा 1 से लेकर 12 तक की एनसीईआरटी की सारी टेक्स्ट बुक्स मोबाइल एप्लिकेशन प्लैटफॉर्म पर मौजूद होंगी। इन्हें देश के किसी हिस्से में स्मार्टफोन पर मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकेगा। यही नहीं, ऐप के जरिए स्‍टूडेंट्स को ट्यूटोरियल हेल्‍प भी दी जाएगी। इससे प्राइवेट ट्यूशन और कोचिंग सेंटर्स की मनमानी पर लगाम लगाने में मदद मिल सकती है।
दो फेज में बदलाव
एनसीईआरटी ने लर्निंग मटीरियल डाटाबेस में दो फेज में बदलाव करने का फैसला किया है। पहले फेज में एनसीईआरटी की सभी किताबें ऐप के जरिए मुफ्त में उपलब्ध हो जाएंगी। दूसरे फेज में अगले दो महीने के अंदर कुछ राज्यों के लिए नॉन एनसीईआरटी किताबें इस डाटाबेस में एड कर दी जाएंगी। एनसीईआरटी की किताबों को ही मुफ्त ऑनलाइन उपलब्ध कराने के पीछे कारण देश में इनका सबसे ज्यादा इस्तेमाल होना बताया गया है। 18 से ज्यादा राज्य एनसीईआरटी की किताबें इस्तेमाल करते हैं।
नई कवायद के अहम बिंदु
>जून के पहले हफ्ते के आखिर तक क्लास 1 से लेकर 12 तक की किताबें मोबाइल ऐप के जरिए फ्री में डाउनलोड की जा सकेंगी।
>हिंदी और अंग्रेजी, दोनों भाषाओं की किताबें ऐप पर मौजूद होंगी।
>ऐप के बेहतर इस्तेमाल के लिए इसमें क्लास, लैंग्वेज, सब्जेक्ट और चैप्टर जैसे विकल्प मौजूद होंगे।
>सितंबर तक राज्यों के लिए खास तौर पर नॉन एनसीईआरटी किताबें भी उपलब्ध कराई जाएंगी।
>बच्चों की मदद के लिए सिलेबस का चैप्टर वाइज डिटेल्स ऑनलाइन उपलब्ध होगा।
>बच्चों की ग्रुप स्टडी के लिए एक ऑनलाइन वर्चुअल प्लैटफॉर्म बनेगा। इससे देश भर के बच्चे जुड़ सकेंगे।
>ई-बुक्स को और ज्यादा आकर्षक बनाने के लिए ग्राफिक्स और इलेस्ट्रेशन का इस्तेमाल किया जाएगा।
शिक्षा मंत्री ने कहा
स्मृति ईरानी ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया, ”हम एक लर्निंग डाटाबेस बना रहे हैं। इसके जरिए हम सुदूर के इलाकों तक पहुंचेंगे। इससे स्टूडेंट्स के साथ-साथ अभिभावकों और शिक्षकों को भी मदद मिलेगी।” इस कवायद से न केवल सेल्फ लर्निंग को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है, बल्कि स्कूल के बाद कोचिंग और ट्यूशन की जरूरत को कम किया जा सकेगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.