‘स्मार्ट ‘ गाइड लाइन सुपर कॉरिडोर

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

smart linde

इंदौर. स्मार्ट सिटी की दौड़ में सफल होने के बाद, अब शहर के अफसर हर प्रक्रिया में स्मार्टनेस ला रहे हैं। पंजीयन विभाग भी गाइड लाइन को स्मार्ट शहर की जरूरत के हिसाब से ही बनाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए गठित उप जिला मूल्यांकन समितियों ने अलग-अलग क्षेत्रों में प्रॉपर्टी की रजिस्ट्रियों को खंगालना शुरू कर दिया है। विभाग की नजर खासतौर पर स्मार्ट बनाए जा रहे मध्यक्षेत्र और विकसित हो रहे सुपर कॉरिडोर व बायपास पर है, जहां गाइड लाइन बढ़ाने की तैयारी की जा रही है।

हर वर्ष शहर की विकसित हो चुकी कॉलोनियों को अपनी आय का स्त्रोत बनाते हुए 10 से 20 प्रतिशत तक गाइड लाइन बढ़ाने का काम कर रहे पंजीयन विभाग ने इस बार रणनीति में कुछ बदलाव किया है। ऑनलाइन रजिस्ट्री के बाद अब गाइड लाइन को स्मार्ट बनाते हुए पूरे शहर में प्रॉपर्टी की कीमतों को युक्तिसंगत बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, पिछले वर्ष की तुलना में लक्ष्य से पिछड़रहा विभाग इस बार गाइड लाइन बढ़ाने के लिए नए क्षेत्रों की तलाश में है। इस बार हाईराइज के लिए भी गाइड लाइन में उपबंध बनाए जा सकते हैं। विभाग हमेशा व्यावसायिक क्षेत्रों की गाइड लाइन में ही बढ़ोतरी करता रहा है। पिछले वर्ष प्रॉपर्टी संगठनों के विरोध के बाद 95 प्रतिशत क्षेत्रों के मूल्य यथावत रखे गए। इस बार भोपाल से विकसित क्षेत्रों के लिए 20 प्रतिशत तक बढ़ोतरी का फरमान आया है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.