SLS की पहली उड़ान में छोड़े जाएंगे 13 उपग्रह

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

nasa'

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा द्वारा मंगल पर मानव मिशन भेजने के लिए तैयार किए गए रॉकेट स्पेस लॉंच सिस्टम (एसएलएस) की पहली परीक्षण उड़ान से 13 नैनो उपग्रह भेजे जाएंगे। एसएलएस नासा के स्पेस शटल प्रोग्राम की जगह लेगा और इसकी पहली प्रायोगिक उड़ान 2018 में होने की संभावना है। इसे एक्सप्लोरेशन मिशन-1 नाम दिया गया है और इसके जरिए ओरियन अंतरिक्षयान के साथ-साथ 13 नैनो उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। यह उड़ान वर्ष 2023 में भेजे जाने वाले मानव मिशन का मार्ग प्रशस्त करेगी क्योंकि ओरियन अंतरिक्षयान के जरिए मानव को मंगल पर भेजा जाएगा।
एमईए स्काउट पृथ्वी के करीब मौजूद एक क्षुद्रग्रह की स्थिति का पता लगाएगा जबकि बायोसेंटीनल कठिन पर्यावरण में सूक्ष्म जीवाणुओं के जीवित रहने का ज्ञान जुटाएगा। इसके अलावा सहयोगी देशों के तीन और नासा के क्यूब क्वेस्ट चैलेंज के तीन विजेताओं के उपग्रह भी एसएलएस के जरिए प्रक्षेपित किए जाएंगे। ईएम-1 का एक ऐतिहासिक पहलू यह भी है कि पहली बार किसी महिला को लॉन्च की कमान सौंपी गई है। नासा की एसएलएस टीम चार्ली ब्लैकवेल थॉमसन को पहले ही ट्विटर पर इसकी बधाई दे चुकी है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.