आस्था गोडबोले उज्बेकिस्तान में सिखाएंगी कथक

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

astha

इंदौर. कथक नृत्यांग्ना आस्था गोडबोले को विदेश मंत्रालय की एजेंसी आईसीसीआर ( इंडियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशन) की ओर से उज्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद में दो साल के लिए नियुक्त किया गया है। वे मार्च में ताशकंद जाएंगी। ताशकंद स्थित लालबहादुर शास्त्री सेंटर फॉर इंडियन कल्चर में बतौर टीचर एंड परफॉर्मर काम करेंगी। वे युवाओं को कथक सिखाएंगी। साथ ही भारतीय संस्कृति की जानकारी भी देंगी। लखनऊ घराने के कथक की परंपरा को आगे ले जाने वाली आस्था शहर की वरिष्ठ कथक नृत्यांग्ना सविता गोडबोले की बेटी और शिष्या हैं। वे 19वीं शताब्दी के कथक पर रिसर्च भी कर रही हैं। संस्कृत में एमए आस्था ने थिएटर में भी डिप्लोमा किया है।
आस्था ने बताया, उज्बेकिस्तान के लोग भारतीय संस्कृति में काफी रुचि रखते हैं, इसीलिए विदेश और संस्कृति मंत्रालय ने वहां इंडियन कल्चरल सेंटर स्थापित किया था। गौरतलब है, उज्बेकिस्तान पहले रूस का हिस्सा था। शास्त्री ने रूस यात्रा के दौरान वहां इस तरह का केंद्र खोलने की इच्छा जताई थी। आस्था ने कहा, ये काम देश के सांस्कृतिक दूत बनने जैसा है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
Loading...