सिहंस्थ जा रहे डॉक्टर दम्पति ने बचायी माँ और नवजात की जान

1273632_Wallpaper1

इंदौर। शहर के डॉक्टर दंपती ने शनिवार रात पेशे के साथ-साथ इंसानियत की भी मिसाल पेश की। उन्होंने उज्जैन रोड सांवेर के पास करीब तीन घंटे से ट्रैफिक जाम में फंसी एंबुलेंस में एक गर्भवती का प्रसव कराकर जच्चा-बच्चा की जान बचा ली। बच्चे के गले में गर्भनाल लिपट गई थी। डॉक्टर के इस मदद की सोशल साइट्स पर भी खूब सराहना की गई।
घटना करीब 10 बजे की है। यहां उज्जैन जाने वालों के कारण लंबा जाम था। शहर के न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अपूर्व पौराणिक, स्त्री रोग विशेषज्ञ पत्नी डॉ. नीरजा पौराणिक के साथ भी उसमें फंसे हुए थे। वे भी उज्जैन जा रहे थे।
डॉ. पौराणिक के मुताबिक, जाम में फंसे हुए तीन घंटे हो चुके थे। पीछे एंबुलेंस सायरन बजा रही थी। कार से उतरकर देखा तो उसमें एक महिला को प्रसव पीड़ा हो रही थी। उन्होंने इसकी जानकारी डॉ. नीरजा को दी। वे तुरंत एंबुलेंस में गईं और डिलिवरी कराई।
डॉक्टर के मुताबिक, बच्चे के गले में गर्भनाल लिपटी हुई थी, जिससे उसकी जान जोखिम में थी। उन्होंने तुरंत उसे मां का स्तनपान कराया तो नाल कमजोर हो गई। मां और शिशु थोड़ी देर बाद सामान्य स्थिति में आ गए। आसपास के लोगों की मदद से एंबुलेंस को साइड में खड़ा कराया गया।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.