सिलिकॉन सिटी से शुरू हुआ 25 हजार पौधे लगाने का अभियान

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

plantation-best-ideas-for-save

जिन पेड़ों ने हमें जिंदगी दी, हम उन्हीं की जान लेने में लगे हैं। हरियाली है तो इंसान का अस्तित्व है। जितने ज्यादा पेड़ होंगे, पर्यावरण उतना ही शुद्ध होगा और जीवन स्वस्थ-सुखद होगा। जनहित के इसी पवित्र उद्देश्य को पूरा करने के लिए नईदुनिया द्वारा संस्था लक्ष्य के सहयोग से 25 हजार पौधे लगाने का महाभियान रविवार को शुरू किया गया। शुरुआत सिलिकॉन सिटी से हुई। यहां तीन उद्यानों में 1500 से ज्यादा पौधे रोपे गए। अभियान के दौरान 60 से ज्यादा कॉलोनियों में पौधारोपण किया जाएगा।
समारोह में विधायक जीतू पटवारी और ईओडब्ल्यू एसपी मनोज सिंह बतौर अतिथि उपस्थित थे। विधायक पटवारी ने बताया कि पेड़ों को बचाने से ही हमारी जिंदगी बचेगी। जरूरी है कि हर इंसान ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए और इनकी देखभाल करे। नईदुनिया और लक्ष्य का यह प्रयास सराहनीय है। हर नागरिक को इसमें समय व श्रम देकर पौधों की जिम्मेदारी लेना चाहिए। ईओडब्ल्यू एसपी ने कहा कि 25000 पौधे लगाने के अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोगों को शामिल होकर अपनी जिम्मेदारी निभाना चाहिए। पौधों की देखभाल की जाना चाहिए ताकि ये पेड़ बन सके और इन्हें लगाने का वास्तविक उद्देश्य पूरा हो सके। इनकी देखभाल की मॉनीटरिंग भी होना चाहिए।
इस दौरान लक्ष्य संस्था के कोषाध्यक्ष डॉ. संजय कामले, सिलिकॉन सिटी के सचिन मिश्रा, चंदन सेनानी, अभिषेक पाठक सहित कई रहवासियों ने पौधे वितरित किए। सिलिकॉन सिटी में कचनार, नीम, पीपल, बरगद, एलेस्टोनिया, कनेर, पाखर, ताड़, शीशम, गुलमोहर और केशिया के पौधे शामिल हैं। साथ ही ट्री गार्ड भी लगाए गए।
अभियान में पौधे लगाने के लिए फुटपाथ से लेकर सार्वजनिक उद्यानों का चयन किया गया है। कवर्ड एरिया, मेन रोड के फुटपाथ, डिवाइडर, घरों के सामने की खाली जगह, कॉलोनी के बगीचों, स्कूल परिसरों आदि में पौधे लगाए जाएंगे। पौधे लगाने और बचाने के इस अभियान में आम लोग भी शामिल हो सकते हैं। इसे सफल बनाने के लिए आर्थिक सहयोग देने के साथ श्रमदान और समयदान भी किया जा सकता है। अगर कोई अपने क्षेत्र में पौधे लगवाना चाहता है या पौधे लगाने के बाद उनकी देखभाल की जिम्मेदारी लेना चाहता है तो संस्था से संपर्क कर सकता है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.