मोबाइल एप से सफाई पर निगरानी अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के भरोसे

smart city

कॉलोनियों व रहवासी इलाकों से समय पर कचरा उठाने के लिए मोबाइल एप प्रोजेक्ट लाने की योजना कागजों में ही बंद करने के बाद निगम अब इसे स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट से जोड़कर लाने की तैयारी कर रहा है।
शहर से कचरा तत्काल उठे और सफाईकर्मी से लेकर अफसर अलर्ट रहकर सफाई पर ध्यान दें, इसे लेकर निगम ने मोबाइल एप से निगरानी की योजना बनाई थी, जिस पर अभी तक अमल नहीं हुआ। निगम ने छह महीने पहले एप व वेब पोर्टल तैयार करने पर 50 लाख रुपए खर्च करने की योजना बनाई थी। इसके लिए टेंडर भी जारी किया गया था, लेकिन बाद में इसे निरस्त कर दिया गया। शहर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में भी निगम को बजट मिलना है। ऐसे में निगम मोबाइल एप से कचरे की मॉनीटरिंग के प्रोजेक्ट को स्मार्ट सिटी में लेकर लागू करने की योजना बना रहा है। हालांकि अभी स्मार्ट सिटी के लिए आईसीटी कंसल्टेंट तय करने की प्रक्रिया की जा रही है। इसके तय होने में अभी 10 दिन लगेंगे। इसके बाद कंसल्टेंट कंपनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत एप से मॉनीटरिंग का सिस्टम बनाएगी। इस तरह इस काम में अभी चार-पांच महीने लगेंगे।
यह व्यवस्था लागू होती है तो वरिष्ठ अफसर शहर में कचरा प्रबंधन के काम की मोबाइल व वेब के माध्यम से 24 घंटे मॉनीटरिंग कर सकेंगे। उन्हें पता चल सकेगा कि किस क्षेत्र में कचरा उठाया जा रहा है और कहां पर लापरवाही की जा रही है। जो व्यक्ति कचरे का फोटो निगम के पोर्टल पर भेजेंगे, वहां से कचरा उठाने के बाद कर्मचारी इस बात की सूचना भी देंगे कि निगम ने क्या एक्शन लिया। अभी निगम में सीएसआई के लिए वाट्सएप पर फोटो भेजने की व्यवस्था है।
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट शामिल है। ऐसे में अब इस प्रोजेक्ट के तहत मोबाइल एप व पोर्टल से कचरे की मॉनीटरिंग की व्यवस्था लागू करेंगे। अभी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए आईसीटी कंसल्टेंट तय होना है। उसके बाद ही इस संबध में काम हो सकेगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.