फिल्म प्रमोशन के लिए जैकलीन फर्नांडिस, वरूण धवन और जॉन इब्राहम शहर आए

dhishoom
सड़क पर जमा ढेरों गाड़ियां, मॉल में इधर-उधर भागते लोग और अपने फेवरेट सितारों की एक झलक पाने के लिए मचता शोर…, रविवार को जब फिल्म ‘ढिशूम’ के प्रमोशन के लिए जॉन अब्राहम, जैकलीन फर्नांडिस और वरूण धवन के साथ एबी रोड स्थित एक मॉल पहुंचे तो उनके फैन्स की दिवानगी देखने लायक थी। बाउंसर्स के लाख रोकने के बाद भी फैन्स हटने का नाम ही नहीं ले रहे थे। एक जगह से यदि उन्हें हटाया जाता तो वे मॉल के किसी ओर कोने से इन सितारों की सिर्फ एक झलक देखने के लिए भागते हुए पहुंच जाते। इससे पहले जंजीरवाला चौराहे पर भी होने वाली एक गतिविधि में फैन्स की दिवानगी का आलम देख तीनों स्टार्स गाड़ी से बाहर कदम भी नहीं रख पाए।
जब मैं स्कूल में था तो कहा करता था कि एक दिन लोग मुझे अपने नाम से जानेंगे। कैसे? नहीं पता। मॉडलिंग की शुरुआत हुई और सपना बुना सुपर मॉडल बनने का। तभी भट्टजी ने ‘जिस्म’ फिल्म का ऑफर रखा। इसे करते हुए मुझे एक्टिंग से प्यार हो गया, हालांकि मॉडल से एक्टर बनने के सफर में मैंने कई गलतियां कीं। आज मैं खुद भी उन गलतियों से सीखता और वरूण जैसे न्यूकमर्स को सिखाता भी हूं। यह कहना है एक्टर, प्रोड्यूसर जॉन अब्राहम का। उन्होंने कहा कि मैं ‘नो स्मोकिंग’ फिल्म के प्रमोशन के लिए स्कूल पहुंच गया, जबकि बच्चों के बीच उस फिल्म के प्रमोशन कोई मतलब नहीं था। वरुण मेरे छोटे भाई की तरह है और मैं शूटिंग के दौरान हमेशा उन्हें इस तरह की गलतियां न करने की नसीहत देता हूं। उन्हें बताता हूं कि सफलता के समय तो पूरी दुनिया आपके साथ होती है पर चरित्र की असली पहचान असफलता के समय होती है, जब कई बार अपने भी साथ छोड़ देते हैं।
जॉन कहते हैं कि लोग हमेशा मुझे एक्शन फिल्में ऑफर करते हैं, जबकि मुझे कॉमेडी भी पसंद है। ‘काबुल एक्सप्रेस, वाटर’ और विकी डोनर (बतौर प्रोड्यूसर) जैसी फिल्में मेरी पहली पसंद होती हैं। ‘मद्रास कैफे’ मेरे दिल के सबसे ज्यादा करीब है। ये मेरी कमर्शियल नहीं इंटेलिजेंट चॉइस है। मैं इंडस्ट्री के ट्रैंड के हिसाब से फिल्में नहीं करता, बल्कि उससे उल्टा करता हूं।
अपने मस्तमौला व्यवहार के लिए जाने वाले वाले एक्टर वरूण धवन कहते हैं जब भी इंडस्ट्री के किसी परिवार से नया एक्टर आता है तो लोग उसे लेकर एक नजरिया बना लेते हैं। मैं जानता था कि जब तक मैं यह नजरिया तोड़कर लोगों के दिल तक नहीं पहुंचूंगा, लोग मुझे नहीं अपनाएंगे। इसलिए मैं हमेशा नए-नए किरदार करते रहता हूं, जैसे इस फिल्म में मैं एक पुलिस अफसर के रूप में नजर आने वाला हूं। फिल्म में सारे एक्शन सीन्स हमने ही किए हैं। हैलीकॉप्टर पर चढ़कर एक्शन सीन करना रोंगटे खड़े कर देना वाला अनुभव रहा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.