रियो ओलिंपिक में भी इंदौरी पोहे का जलवा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

indori_poha_25_july_1o_2016725_8944_24_07_2016

इंदौरी व्यक्ति कहीं भी चला जाए पोहा, सेव और जीरावन खाए बिना उसका खाना पूरा नहीं होता। यही कारण है कि रियो ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे सेना के निशानेबाजों की रियो में भी दिन की शुरुआत इसी पोहा और सेव के साथ हो रही है।
महू स्थित आर्मी मार्क्समैनशिप यूनिट (एएमयू) के तीन निशानेबाज जीतू राय, चैन सिंह और गुरप्रीतसिंह रियो ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। एमएमयू के कर्नल ललित शर्मा ने रियो से खास चर्चा में बताया कि हम खाने का सारा सामान यहीं से साथ ले गए हैं। हमारे निशानेबाजों को इंदौरी पोहा और सेव सबसे ज्यादा पसंद है, इसलिए कई किलो पोहा और सेव हम यहीं से खरीदकर ले गए थे ताकि रियो में परेशानी न हो। हम इतना खाने का सामान लाए हैं कि अब भारत से दोबारा मंगवाने की जरूरत नहीं है।
यहां हमारे पास पूरी तरह सुसज्जित अपार्टमेंट है, जिसमें खाना बनाने की सभी सुविधाएं हैं। खिलाड़ियों को देसी खाने स्वाद मिलता रहे इसके लिए एएमयू के शैफ दिलबाग भी हमारे साथ आए हुए हैं। उनके हाथ का खाना हम सभी को भाता है, अन्य सपोर्ट स्टाफ भी साथ आया है।
कर्नल शर्मा ने बताया कि निशानेबाज सुबह 6 से 7.30 बजे से शारीरिक अभ्यास करते हैं। फिर सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक निशानेबाजी का अभ्यास होता है। शाम को 6 से 7.30 तक फिर शारीरिक अभ्यास होता है।
कर्नल शर्मा ने बताया कि निशानेबाज अभी ब्राजील नेवी की रेंज पर अभ्यास कर रहे है। मंगलवार को ओलिंपिक शूटिंग रेंज खुलेगी। हम अगले कुछ दिनों में खेल गांव में रहने चले जाएंगे। वैसे हम काफी पहले से रियो आ गए थे, इसलिए निशानेबाज यहां के मौसम और परिस्थिति से अभ्यस्त हो चुके हैं। पूरी उम्मीद है कि देश के लिए पदक जीतकर ही लौटेंगे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.