अब स्टार्ट अप को रफ्तार देने की तैयारी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

start_up_india_25_07_2016

देश में रोजगार की संख्या बढ़ाने को सरकार स्टार्ट अप इंडिया कार्यक्रम की रफ्तार बढ़ाने की तैयारी में है। इसके लिए सरकार ने इससे जुड़े सभी पक्षों के साथ विचार-विमर्श की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया है, ताकि स्टार्ट अप्स की राह के रोड़े हटाकर उनकी सफलता सुनिश्चित की जा सके। इसी क्रम में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय बैठकों का सिलसिला शुरू करने जा रहा है, जिनमें इन सभी मुद्दों पर विचार होगा।
पहली बैठक स्नैपडील और फ्लिपकार्ट जैसे शीर्ष स्टार्ट अप्स के संस्थापकों के साथ गुरुवार को होगी। इसके बाद स्टार्ट अप से संबंधित सभी पक्षों के साथ अलग-अलग बैठक कर वाणिज्य व उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण स्टार्ट अप कार्यक्रम को सफल बनाने के नुस्खों पर विचार करेंगी। सरकार मान रही है देश में रोजगार के अवसर बढ़ाने में स्टार्ट अप अहम भूमिका निभा सकते हैं। अमेरिका में भी सर्वाधिक रोजगार स्टार्ट अप्स के जरिये ही सृजित होते हैं। इसलिए मोदी सरकार का मानना है कि देश में नौकरियां उपलब्ध कराने के लक्ष्य को स्टार्ट अप्स को सफल बनाकर ही प्राप्त किया जा सकता है।
अब तक देश में स्टार्ट अप शुरू करने के 728 प्रस्ताव सरकार को प्राप्त हो चुके हैं। इनमें से 180 को सही पाया गया है। उनकी पहचान स्टार्ट अप्स के तौर पर औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआइपीपी) कर चुका है। इनमें से 16 को टैक्स छूट के लिए पात्र माना गया है। यानी इन सोलह स्टार्ट अप्स को आयकर में तीन साल तक छूट का लाभ मिलेगा।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.