एमपी बोर्ड के स्कूलों में लागू होगा NCERT का सिलेबस

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

mp_board_books_ncert_2016730_84431_28_07_2016

एमपी बोर्ड के स्कूलों में अगले शिक्षा सत्र से एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम पढ़ाया जाएगा। स्कूल शिक्षा विभाग ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। पाठ्यक्रम बदलने की मुख्य वजह छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करना है। खास बात यह है कि नौवीं से 12 तक केवल गणित-विज्ञान के लिए एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाई जाएंगी, जबकि पहली से आठवीं तक समग्र रूप से कोर्स बदलने की तैयारी है।
एनसीईआरटी की किताबें लागू करने के लिए विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच मंथन भी हुआ है। इसमें यह तय हुआ कि नौवीं से 12वीं तक का कोर्स शुरूआत में पूरा नहीं बदला जाए केवल गणित-विज्ञान में ही बदलाव होगा। वाणिज्य और कला संकाय को फिलहाल बदलाव में शामिल नहीं किया जाएगा।
विभाग के अधिकारियों के मुताबिक पहली से आठवीं तक का पूरा कोर्स बदलने की तैयारी है। इसकी मुख्य वजह यह है कि विशेषज्ञों ने वर्तमान में चलने वाले कोर्स को सीबीएसई के कोर्स की तुलना में कमतर पाया। सीबीएसई पाठ्यक्रम प्रदेश में चलने वाले वर्तमान पाठ्यक्रम से ज्यादा एडवांस है। इसका खामियाजा छात्रों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भुगतना पड़ता है।
प्रदेश के स्कूलों में पाठ्यक्रम बदलने की जरूरत इसलिए पड़ रही है क्योंकि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में जो प्रश्न पूछे जाते हैं वे ज्यादातर सीबीएसई पाठ्यक्रम से संबंध रखते हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं में उनका चयन भी अपेक्षाकृत अधिक होता है। ऐसे में गैर सीबीएसई छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। वे उनके समतुल्य आ सकें इसलिए पाठ्यक्रम में बदलाव की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.