नन्हे हाथ बुन रहे सैनिकों के लिए अपनेपन की डोर

rakhi_making_in_indore_school_201683_115357_03_08_2016

रक्षाबंधन पर बहन के द्वारा भाई की कलाई पर बांधी गई राखी भाई के लिए स्नेह का प्रतीक होती है तो बहनों के लिए सुरक्षा का विश्वास। लेकिन देश की सुरक्षा के लिए अपनी जान खतरे में डाले सीमाओं पर खड़े सेना के जवान राखी के दिन भी अपनी बहनों से दूर देश की रक्षा में लगे रहते हैं।
रक्षाबंधन के इस त्योहार तक पूरे देश का प्रेम और सम्मान सैनिकों तक पहुंचाने के लिए ‘भारत रक्षा पर्व मनाया जा रहा है। जैसे-जैसे दिन बीत रहे हैं, भारत रक्षा पर्व के प्रति स्कूली बच्चों और शहरवासियों का उत्साह भी बढ़ता जा रहा है।
स्कूलों में बच्चे अपने हाथों से राखियां बना रहे हैं, वहीं सामाजिक संस्थाएं पूरे शहर में से राखियां और संदेश एकत्र कर रही हैं। मंगलवार को मां उमिया पाटीदार कन्या हासे स्कूल और सेंट मैरी चैंपियन स्कूल के बच्चों ने महू नाके पर ‘मानव-श्रृंखला बनाकर शहर के लोगों को उनके सेना के प्रति कर्तव्यों के बारे में जागरुक किया। वहां से गुजरते हर राहगीरों के मन में बच्चों को देख सेना के प्रति सम्मान के भाव उमड़े।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.