इंदौर में नहीं चलेंगी ओला, उबर, जुगनू

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

olacabs-picture

शहर में बुधवार से ओला, उबर, जुगनू जैसी कैब नहीं चलेंगी। प्रदेशभर में आईटी बेस कैब सर्विस पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है।
परिवहन आयुक्त शैलेंद्र श्रीवास्तव के मुताबिक, परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने आदेश दिए हैं कि प्रदेश के बड़े शहरों में इस प्रकार की सेवा दे रही आईटी बेस कैब सर्विस की शिकायतें मिल रही हैं। ये कंपनियां लगातार अनियमितता कर रही हैं। इन पर तत्काल रोक लगाई जाए। सभी आरटीओ को निर्देश जारी कर दिए गए हैं, वहीं ओला, उबर और अन्य कंपनियों को नोटिस देकर अपना संचालन बंद करने को कहा गया है।
आरटीओ एमपी सिंह ने बताया कि बुधवार से शहर में अगर इस प्रकार की कैब चलती मिलीं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।
ओला, उबर और जुगनू जैसी एप बेस किराया लेने वाली सर्विस के खिलाफ इंदौर आरटीओ को लगातार शिकायतें मिलती रही थीं। लोगों का कहना है कि ये कंपनियां शुरू में तो काफी कम किराया लेती हैं, लेकिन बाद की राइड पर मनचाहा किराया वसूलती हैं।
परिवहन विभाग के इस निर्णय का इंदौर में व्यापक असर होगा। ई-कैब चालक एवं संचालक एसोएिसशन के अध्यक्ष इंदर सिंह यादव के मुताबिक शहर में ओला और उबर की करीब 1 हजार से अधिक गाड़ियां चलती हैं। इसके अलावा जुगनू के भी 300 से अधिक ऑटो हैं। इनके बंद होने से लोग बेरोजगार हो जाएंगे।

    'No new videos.'

Leave a Reply

Your email address will not be published.