Category Archives: Digital

ऐसे बनी हेलेन सलमान खान के परिवार का अटूट हिस्सा

दूसरे विश्व युद्ध में जब हेलेन के पिता का निधन हुआ तो वो परिवार के साथ बर्मा से भारत आ गई थीं. उस वक्त उनकी आर्थिक हालत बहुत ही बुरी थी. उसी वक्त हेलेन के भाई भी गुज़र गए. जैसे तैसे हेलेन की मां ने नौकरी ढूंढी, लेकिन उस तन्ख्वाह में घर खर्च बमुश्किल ही चलता था. आखिरकार हेलेन ने भी काम करने का फैसला लिया. उनकी जान पहचान एक बैकग्राउंड डांसर से थी, लिहाज़ा हेलेन को भी यही काम मिल गया. हेलेन बेहतरीन डांस करती थीं, जिसे देखते हुए उन्हें हावड़ा ब्रिज फिल्म में एक बड़ा मौका मिला. और वो रातों रात दर्शकों के बीच छा गईं. इस तरह हेलेन एक बड़ी और बेहतरीन डांसर के रूप में उभरकर सामने आईं. 

हेलेन ने इस दौरान निर्देशक पीएन अरोड़ा से शादी कर ली थी. लेकिन ये शादी जल्द ही टूट गई. आखिरकार हेलेन की मुलाकात हुई सलीम खान से 1962 में. धीरे धीरे हेलेन को सलीम पसंद आने लगे और सलीम खान भी हेलेन को दिल दे बैठे. आखिरकार 1980 में दोनों ने शादी कर ली. उस वक्त इस रिश्ते का विरोध सलीम खान की पहली पत्नी सुशीला चरक ने ही नहीं बल्कि उनके बच्चों ने भी किया. सलमान खान, अरबाज़ और सोहेल तीनों ही इस शादी के सख्त खिलाफ थे और हेलेन से बात तक नहीं करते थे. 

धीरे-धीरे हेलेन का स्वभाव सभी को पसंद आने लगा और ये पता चला कि हेलेन वाकई काफी अच्छी हैं. लिहाज़ा सुशीला चरक ने ही नहीं बल्कि सलमान और सभी बच्चों ने भी उन्हें अपना लिया. और आज हेलेन सलमान खान के परिवार और इनकी जिंदगी का अटूट हिस्सा बन चुकी हैं.  

    'No new videos.'

टायकून काइली जेनर को फोर्ब्स मैगजीन ने साल 2020 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली सेलेब्रिटी

Kylie Jenner

काइली की हैरतअंगेज कमाई का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उनके नीचे मौजूद टॉप चार सेलेब्स की कमाई मिलाकर भी काइली से अधिक नहीं है. काइली के बाद अमेरिकन रैपर केनी वेस्ट, मशहूर टेनिस प्लेयर रोजर फेडरर, पुर्तगाल के सुपरस्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेंटीना के सुपरस्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी का नाम है.  

इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर अमेरिका के रैपर कैनी वेस्ट का नाम है. उन्होंने इस साल 170 मिलियन डॉलर्स यानी लगभग साढ़े 12 अरब की कमाई की है. वेस्ट और काइली के बीच काइली की बहन किम कार्दशियां के पति हैं. कैनी इससे पहले तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की थी हालांकि उन्होंने कुछ दिनों बाद ही अपने फैसले को बदल भी लिया था. 

    'No new videos.'

कान में दर्द,..? जानें घरेलू इलाज

कान में दर्द एक आम समस्या है. ये दर्द दोनों कान में हो सकता है लेकिन ये ज्यादातर एक कान में ही होता है. कान का दर्द थोड़ी देर या बहुत देर तक भी सकता है. इयर इंफेक्शन के अलावा और भी कई वजहों से कान में दर्द होता है.

    'No new videos.'

Nokia PureBook X14 लैपटॉप भारत में लॉन्च

Nokia PureBook X14 लैपटॉप को भारत में लॉन्च कर दिया गया है और इसकी बिक्री फ्लिपकार्ट के जरिए की जाएगी. ये नोकिया का पहला लैपटॉप है. इसमें Intel 10th-जेनरेशन प्रोसेसर दिया गया है और Windows 10 प्री-इंस्टॉल्ड है.

इसे मॉडल नंबर NKi510UL85S के साथ सिंगल कॉन्फिगरेशन में उतारा गया है. इसे मैट ब्लैक फिनिशिंग के साथ पेश किया गया है. इसकी स्क्रीन में साइड्स में स्लिम बेजल्स हैं और इसमें बड़ा टच पैड मौजूद है.

Nokia PureBook X14 की कीमत 59,990 रुपये रखी गई है और 18 दिसंबर से फ्लिपकार्ट से इसके लिए प्री-बुकिंग की जा सकेगी. फिलहाल कंपनी ने इसके लिए सेल डेट की घोषणा नहीं की है.

    'No new videos.'

टेलीमेडिसिन सुविधा से घर बैठे होगा इलाज*

*व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल के माध्यम से ले सकेंगे परामर्श ,आवश्यकता पड़ने पर मेडिकल मोबाइल यूनिट घर पहुंचकर करेगी जांच*

       वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जब संपूर्ण देश करोना महामारी के संकट के दौर से गुजर रहा है, हर एक व्यक्ति को घर पर रहने की सलाह दी गई है। जिससे कि सोशल डिस्टेंसिंग अर्थात सामाजिक दूरी बनाई जा सके एवं कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके।

सोशल डिस्टेंसिंग तथा व्यक्तियों के घरों में रहने के उद्देश्य को सार्थक करने के लिए जिला प्रशासन ने इंदौर में टेलीमेडिसिन सुविधा की शुरुआत की है। इसके अंतर्गत *74892 44895* नंबर पर व्हाट्सएप वॉइस कॉल अथवा वीडियो कॉल के द्वारा एक्सपर्ट चिकित्सकों से परामर्श लिया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि, कोरोना के चलते लोगों के मन में भय की स्थिति भी है। तथा सामान्य सर्दी खांसी होने पर भी लोगों को तो कोरोना का भय सता रहा है। इस स्थिति से निपटने के लिए टेलीमेडिसिन सुविधा द्वारा व्यक्तियों की सर्दी, खांसी, जुकाम आदि के लक्षण देखकर आवश्यक परामर्श दिया जा सकेगा। ऐसी स्थिति जहां व्यक्ति को समक्ष में परामर्श आवश्यक है,
वहां मेडिकल मोबाइल यूनिट द्वारा संबंधित के घर पहुंच कर भी सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। जिला प्रशासन ने बताया इस सुविधा का मुख्य उद्देश्य लोगों को घर में रहने के लिए प्रेरित करना तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना है।

    'No new videos.'

डोनाल्ड का ट्विटर हुआ वायरल …भारत की लोकप्रियता ने ट्रम्प को बनाया हीरो

भारत यात्रा के लिए रवाना होने से कुछ घंटे पहले राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत में अपने दोस्तों से मिलने के लिए आशान्वित हूं.

लेकिन बात सिर्फ़ इतनी भर नहीं थी. उन्होंने ये बात एक ट्वीट के जरिए कही और साथ में एक वीडियो भी रीट्वीट किया जिसमें उन्हें ‘बाहुबली’ के तौर पर पेश किया गया था.

ट्रंप के ट्वीट के बाद ट्विटर पर इस वीडियो को लेकर हंगामे जैसी स्थिति बन गई.

इसका अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वीडियो ट्वीट होने के 24 घंटे के भीतर 18 लाख से ज़्यादा लोग इसे देख चुके हैं.

    'No new videos.'

क्या है ट्रम्प की ताजमहल के प्रति दीवानगी …!

आगरा। दुनिया के सात अजूबों में शामिल एक शहंशाह की मोहब्बत की निशानी और सफेद संगमरमर से बनी दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत ताजमहल का एक बार हर कोई दीदार करना चाहता है। यही वजह है कि जब भी कोई खास भारत आता है, तो वो ताज का दीदार करे बगैर नहीं जाता है। तो भला अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी ताज महल देखे बिना कैसे वापस जा सकते हैं। ट्रंप भी अपने परिवार संग आज ताजमहल को देखने आगरा पहुंचेंगे। हालांकि, ट्रंप कोई पहले अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं हैं, जो ताजमहल को निहारने आगरा पहुंचेंगे। उनके पहले भी अमेरिका के दो राष्ट्रपति ताज का दीदार कर चुके हैंआगरा। दुनिया के सात अजूबों में शामिल एक शहंशाह की मोहब्बत की निशानी और सफेद संगमरमर से बनी दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत ताजमहल का एक बार हर कोई दीदार करना चाहता है। यही वजह है कि जब भी कोई खास भारत आता है, तो वो ताज का दीदार करे बगैर नहीं जाता है। तो भला अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी ताज महल देखे बिना कैसे वापस जा सकते हैं। ट्रंप भी अपने परिवार संग आज ताजमहल को देखने आगरा पहुंचेंगे। हालांकि, ट्रंप कोई पहले अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं हैं, जो ताजमहल को निहारने आगरा पहुंचेंगे। उनके पहले भी अमेरिका के दो राष्ट्रपति ताज का दीदार कर चुके हैं।

गौरतलब है कि ट्रंप अपनी भारत यात्रा के दौरान सोमवार शाम को आगरा पहुंचेंगे। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी मेलानिया, बेटी और दामाद जैरेड कशनर मौजूद होंगे। आगरा उनके वेलकम के लिए तैयार है। जहां खुद सूबे के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल उनकी अगवानी करेंगे। तय कार्यक्रम के मुताबिक, ट्रंप सोमवार शाम साढ़े चार बजे एयरफोर्स वन विमान से खेरिया एयरपोर्ट पहुंचेंगे। जहां राज्यपाल आनंदी बेन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनका स्वागत करेंगे। इसके बाद वो सड़क मार्ग से होटल अमर विलास और फिर गोल्फ कार्ट से ताजमहल पहुंचेंगे। उनके स्वागत के लिए करीब 300 कलाकार प्रदेश की संस्कृति की झलक प्रस्तुत करेंगे। इसमें रामलीला, रासलीला से लेकर नौटंकी तक शामिल होगी।

    'No new videos.'

धुंधले पड़ रहे टिकटॉक स्टार

22 साल के अजय बरमन भारत में धुंधले पड़ रहे टिकटॉक स्टार हैं. वो धुंधले इसलिए नहीं पड़ रहे हैं कि उनका दौर ख़त्म हो रहा है, बल्कि उनका आरोप है कि हिंदू-मुस्लिम भाईचारे वाले वीडियो डालने के कारण उन्हें ‘शैडो बैन’ किया जा रहा है.

शैडो बैन करने का मतलब है कि कॉन्टेंट को इस तरह से चुपके से ब्लॉक कर दिया जाए कि वो प्लेटफ़ॉर्म के सभी यूज़र्स तक नहीं पहुंच सकें. कॉन्टेंट बनाने वाले को अचानक नहीं लगेगा कि उसके कॉन्टेंट को ढंग से प्रमोट नहीं किया जा रहा.

टिकटॉक राजनीतिक विषयों से शुरू से ही बचता रहा है. मगर बरमन ने हिंदू-मुस्लिम एकता पर 15 सेकंड का छोटे सा नाटक बनाकर 10 लाख से कुछ ही कम फॉलोअर्स बना लिए हैं. वह भी उस दौर में जब बहुत से लोगों को चिंता है कि भारत में दोनों समुदायों के बीच दूरियां बढ़ रही हैं.

बरमन का एक वीडियो बहुत सफल हुआ और उसे 25 लाख से अधिक व्यूज़ मिले. एक वीडियो में बरमन मुस्लिम शख़्स के वेश में हैं. उन्होंने सफ़ेद रंग की टोपी पहनी है और एक हिंदू उन्हें ले जा रहा है. बैकग्राउंड में सद्भाव भरा संगीत बज रहा है.

एक और लोकप्रिय स्किट में वो पाकिस्तान के एक मुस्लिम लेखक बने हैं जो भारत में एक किताब पर शोध करने आए हैं और दो हिंदू अजनबी उन्हें अपने यहां ठहराते हैं.

    'No new videos.'

तकनीक केवल साधन बनाने तक सीमित नहीं

जाने-माने अमरीकी अनुसंधानकर्ता रेमंड कुर्ज़विल ने इस सदी की शुरुआत में कहा था कि तकनीक केवल साधन बनाने तक सीमित नहीं है, ये एक प्रक्रिया है जो पहले से अधिक ताकतवर तकनीक को जन्म देती है.

उनका कहना था कि तकनीक के विकास की गति, एक दशक में कम से कम दोगुनी होगी. आज तकनीक जिस मुकाम पर पहुंच चुकी है, उससे साबित होता है कि उनका कहना ग़लत नहीं था.

लेकिन तेज़ी से होते तकनीक के विकास के साथ इसके बेक़ाबू हो जाने का डर भी उतनी ही तेज़ी से फैला है. वैज्ञानिकों और जानकारों में तकनीक से प्रेरित अनजान भविष्य का डर और उस पर चर्चा कोई नई बात नहीं है.

गूगल और एल्फाबेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने बीते सप्ताह कहा था कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को लेकर सावधानी बरतना बेहद ज़रूरी है.

बीते सप्ताह उनका एक लेख फाइनेन्शियल टाइम्स में छपा, जिसमें उन्होंने कहा, “इसमें कोई संदेह नहीं कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को लेकर नियमों का बनाया जाना ज़रूरी है. हम नई तकनीक पर लगातर काम करते रह सकते हैं. लेकिन बाज़ार व्यवस्थाओं को उसके किसी भी तरह के इस्तेमाल की खुली छूट नहीं होनी चाहिए.”

    'No new videos.'

Sunder Pichai गूगल अल्फाबेट के नए सीईओ..

लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन का कहना है कि वो मानते हैं कि वक्त आ गया है जब उन्हें अपने परिवारिक दायित्व निभाने हैं. हालांकि दोनों कंपनी के बोर्ड में रहेंगे.

21 साल पहले यानी 1998 में सिलिकॉन वैली (कैलिफ़ोर्निया) की एक गराज में गूगल बनी थी. इसके बाद 2015 में कंपनी में कई बड़े बदलाव किए गए और एल्फ़ाबेट को इसकी मूल कंपनी के रूप में बनाया गया. गूगल आज दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार है.

एल्फाबेट का काम था कि केवल सर्च के दायरे से आगे आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस की तरफ पैर पसारती गूगल के काम को “अधिक पारदर्शी और अधिक ज़िम्मेदार” बनाया जाए.

एल्फाबेट के अस्तित्व में आने के बाद पेज और सर्गेई ने इसका कार्यभार संभाला. उनका कहना था कि नई परियोजनाओं की तरफ ध्यान देने के लिए उन्होंने गूगल से मूल कंपनी से जाने का फ़ैसला किया.

लेकिन मंगलवार को एक ब्लॉग में लिखा 46 साल के पेज और सर्गेई ने एल्फाबेट से दूरी बनाने के फ़ैसले की घोषणा की.

बयान में उन्होंने कहा कि वो “सीधे तौर पर बोर्ड के सदस्य के तौर पर कंपनी से जुड़े रहेंगे, कंपनी के शेयरहोल्डर बने रहेंगे” लेकिन कंपनी के “प्रबंधन में बदलाव करने का प्राकृतिक वक्त आ गया है”.

“हम कभी कंपनी के प्रबंधन की भूमिका में नहीं थे और हमें लगता है कि कंपनी को चलाने के कोई और बेहतर तरीका हो सकता है. अब न एल्फाबेट और गूगल को दो-दो मुख्य कार्यकारी अधिकारी चाहिए न ही अध्यक्ष चाहिए.”

    'No new videos.'